जासं, तरनतारन। सरकार की ओर से आटा-दाल योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे के लोगों को सरकारी गेहूं दिया जाता है। वहीं कई ऐसे भी लोग हैं जो जिनके अपने बड़े घर हैं और गाड़ियां रखी हुई हैं। वे भी इस योजना का लाभ ले रहे हैं। कुछ ऐसा ही मामले से जुड़ा कस्बा गोइंदवाल साहिब में एक व्यक्ति का वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वह कार में दो रुपये किलो वाली सरकारी गेहूं को रखवाकर ले जा रहा है। यह व्यक्ति विधानसभा हलका खडूर साहिब में पड़ते गांव धूंदा का पंचायत सदस्य जगजीत सिंह उर्फ जग्गा है।

वीडियो में दिख रहा है कि जगजीत सिंह उर्फ जग्गा बीते सोमवार को राशन डिपो के बाहर लगी ट्राली के पास पहुंचा। अपनी कार में एक-एक करके चार गेहूं की बोरियां ट्राली से उठाकर कार की डिग्गी में रखता है। वह विधानसभा हलका खडूर साहिब में पड़ते गांव धूंदा के पंचायत सदस्य जगजीत सिंह से मिली, जो लग्जरी कार में दो रुपये किलो वाली गेहूं लेने के लिए पहुंचा। इसका वीडियो वहां मौजूद स्थानीय लोगों ने अपने मोबाइल पर बनाया और अब यह इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने लगा है।

कौन है जग्गा

कांग्रेस सरकार के समय जगजीत सिंह जग्गा गांव धूंदा का पंच बना। बाद में वह आम आदमी पार्टी में शामिल हो गया। पूर्व सरकार के समय जग्गा बतौर पंच होने के नाते सस्ती गेहूं का लाभ लेता रहा। पुराने रिकार्ड के मुताबिक जग्गा के खाते में गेहूं जारी था। जग्गा से जब इस संबंधी बात की तो उसने कहा कि मैंने कोई गलती नहीं की। मुझसे अमीर लोग भी गेहूं लेते हैं। मैं सभी का पर्दाफाश कर दूंगा।

डीसी ने खाद्यापूर्ति अधिकारी को दिए जांच के आदेश

डीसी मोनीश कुमार ने बताया कि लग्जरी कार में गेहूं लेने आए मेंबर पंचायत की वीडियो मंगवाई गई है, मामला गंभीर है। अमीर लोगों को कभी गरीब लोगों का हक नहीं छीनना चाहिए। जिला खाद्यापूर्ति अधिकारी जसमीत कौर को मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। रिपोर्ट आते ही आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Edited By: Vipin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट