कमल किशोर, जालंधर

एनआरआइ सभा पंजाब के प्रधान पद के लिए चार उम्मीदवार मैदान में हैं। 17 फरवरी को उम्मीदवार द्वारा जमा करवाए गए दस्तावेजों की जांच की जाएगी। दस्तावेजों की जांच के बाद ही पता चलेगा कि कौन कौन से उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। फिलहाल चारों उम्मीदवार सभा के सदस्यों के साथ मेल मिलाप बढ़ा रहे हैं। पूर्व प्रधान जसबीर सिंह गिल सोशल मीडिया पर अपने लिए वोट मांग रहे हैं।

नामांकन भरने वालों को अब बस इसी बात की चिंता सता रही है कि कहीं पिछले चुनाव की तरह इस चुनाव में भी सभी के सदस्य कम ना पहुंचें। सभा के कुल 23,500 सदस्य हैं। पिछले चुनाव में सिर्फ 1400 के करीब सदस्यों ने चुनाव में हिस्सा लिया था। अबकी बार के चुनाव में भी सदस्यों के कम ही भाग लेने की आशंका है। एनआरआइज पंजाब का रुख दिसंबर, जनवरी व फरवरी में करते हैं। अधिकतर एनआरआइज विदेश जा चुके हैं। इस चुनाव में कितने सदस्य हिस्सा लेते हैं यह आने वाला समय बताएगा। सभा के पूर्व प्रधान जसबीर सिंह गिल ने कहा कि पिछले चुनाव की भांति इस बार भी चुनाव में सभा के सदस्य कम आने की संभावना है। उन्होंने कहा कि सरकार को दिसंबर, जनवरी व फरवरी में सरकार को चुनाव करवाने चाहिए थे। गिल ने कहा कि इस चुनाव में 700 के करीब सदस्यों के आने की उम्मीद है। पिछले चुनाव में इन उम्मीदवारों में थी भिड़ंत

पिछले चुनाव में जसबीर सिंह गिल, कमलजीत सिंह हेयर व प्रीतम सिंह नौरंगपुर मैदान में खड़े थे। चुनाव में काफी कम संख्या में सदस्यों ने भाग लिया था। 770 के करीब जसबीर सिंह गिल को वोट पड़े थे, कमलजीत सिंह हेयर को करीब 320 व प्रीतम सिंह नौरंगपुर को 303 वोट पड़े थे। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सभा के सदस्य चुनाव में कम ही रुचि रखते हैं। चुनाव लड़ने के लिए दस एनआरआइज की मंजूरी जरूरी

प्रधान पद का नामांकन भरने के लिए उम्मीदवार को दस सभा के सदस्यों की मंजूरी चाहिए। नामांकन में दस सभा के सदस्यों के नाम जरूरी अंकित किए जाने चाहिए। अगर नामांकम में दस सदस्यों के नाम नहीं है तो नामांकन रद हो सकता है। फिलहाल प्रधान पद की दौड़ में नामांकन भरने वाले चारों उम्मीदारों ने दस-दस सदस्यों के नाम लिखे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!