जेएनएन, जालंधर। शिक्षण संस्थान के हॉस्टल से पिछले माह गिरफ्तार आतंकी संगठन अंसार गजावत-उल-हिंद (एजीएच) से जुड़े तीन कश्मीरी छात्रों के मामले जांच अब एनआइए (राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी) करेगी। पंजाब व जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में रफीक बट्ट, इदरिस शाह व जाहिद गुलजार को गिरफ्तार किया गया था।

शाहपुर में स्थित सीटी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी के हॉस्टल में पंजाब पुलिस और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) ने दबिश दी थी। दोनों प्रदेशों की पुलिस के संयुक्त अभियान में दबोचे गए छात्रों के कब्जे से एक एके-56 समेत दो हथियार और विस्फोटक जब्त किए गए थे। कश्मीरी छात्रों की जांच एनआइए के हाथ जाने के बाद संभावना जताई जा रही है कि मकसूदां बम ब्लास्ट मामले में गिरफ्तार कश्मीरी छात्रों बशीर और क्यूम की जांच भी एनआइए को सौंपी जा सकती है।

डीजीपी पंजाब सुरेश अरोड़ा ने बताया कि पंजाब सरकार और गृह मंत्रालय के बीच इस मुद्दे पर विचार-विमर्श के बाद एनआइए को यह मामला सौंपने का फैसला लिया गया है। जहिद गुलजार, मोहम्मद इदरिस शाह और और यूसुफ रफीक बट्ट, जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) के  कश्मीर स्थित आतंकवादी संगठन अंसार गजावत-उल-ङ्क्षहद (एजीएच) से जुड़े है। इस संगठन का मुखिया जाकिर राशिद बट्ट उर्फ जाकिर मूसा है और रफीक बट्ट उसका रिश्तेदार है। उन्होंने बताया कि इन तीनों की गिरफ्तारी के बाद दो कश्मीरी छात्रों को मकसूदां बम बलास्ट मामले में गिरफ्तार किया था। उनके दो सहयोगी अभी भी फरार बताए जा रहे हैं।

डीजीपी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में इन संगठनों के संपूर्ण षड्यंत्र और नेटवर्क को खत्म करने की जरूरत है। भारत की पश्चिमी सीमा पर आतंकवाद का विस्तार करने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ लगातार प्रयासरत है। डीजीपी ने कहा कि पंजाब में पुलिस स्टेशनों और पुलिस अधिकारियों को टारगेट करने की और भी घटनाओं को दोहराने की आशंका के चलते कश्मीरी छात्रों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

तीन और कश्मीरी छात्र राउंडअप

मकसूदां थाने में 14 सितंबर को हुए सीरियल बम ब्लास्ट में गिरफ्तार शाहिद कयूम और फाजिल बशीर से मिलने वाले तीन और कश्मीरी युवकों को राउंडअप किया गया है। बताया जा रहा है कि तीनों उनके दोस्त हैं। वहीं पुलिस ने शुक्रवार को राउंडअप किए गए छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया। पुलिस ने  सभी युवकों को शहर छोडऩे से पहले पुलिस को सूचित करने को कहा है। इस संबंध में डीसीपी गुरमीत ङ्क्षसह ने बताया कि कई लोगों से पूछताछ की जा रही है लेकिन किसी को गिरफ्तार नहीं किया और न ही कोई छात्र पकड़ा है। रुटीन में पूछताछ की जा रही है। फरार गाजी और रउफ की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!