जागरण संवाददाता, जालंधर : अदालत की अवमानना के केस में कार्रवाई से बचने के लिए किसानों को 2.20 करोड़ की पेमेंट करने वाला इंप्रूवमेंट ट्रस्ट एक बार फिर संकट में है। अब इन्हांसमेंट को लेकर अवमानना के 12 नए केस ट्रस्ट के खिलाफ दायर हो गए हैं। इनमें करीब 50 करोड़ रुपये के दावे किए गए हैं। इन्हांसमेंट नहीं देने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अवमानना के केस में कार्रवाई से बचने के लिए शनिवार को ही ट्रस्ट ने 16 किसानों को 4.71 करोड़ में से 2.20 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।

ट्रस्ट की कोशिश थी कि पार्ट पेमेंट कर अदालत से कुछ राहत ले ली जाए। इन्हांसमेंट को लेकर अवमानना के 12 नए केसों की सुनवाई भी 12 फरवरी को ही सुप्रीम कोर्ट में होगी, जिसमें एक बार फिर ट्रस्ट की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। उल्लेखनीय है कि छह अलग-अलग केसों में 16 किसानों ने 4.71 करोड़ की इन्हांसमेंट के लिए अवमानना का केस दायर किया था। इसी मामले की सुनवाई भी 12 फरवरी को होनी है, जिसमें कार्रवाई से बचने के लिए ट्रस्ट ने फिलहाल 2.20 करोड़ की पेमेंट दे दी है।

ट्रस्ट की ईओ सुरिंदर कुमारी का कहना है कि नए केसों को भी अदालत ने पुराने केसों के साथ अटैच कर दिया है, सभी की सुनवाई 12 फरवरी को है। अगर अदालत से थोड़ी मोहलत मिलेगी, तो ट्रस्ट फंड का इंतजाम कर किसानों को इन्हांसमेंट की पेमेंट कर देगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi