जागरण संवाददाता, जालंधर : दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की तरफ से मासिक भंडारे का आयोजन रविवार को हुआ। इसमें संस्थान के संस्थापक आशुतोष महाराज की शिष्या साध्वी अक्षदा भारती ने देश की उन्नति के लिए समूचे समाज को एकजुट होने की अपील की। समारोह का आगाज श्री गुरु वंदना के साथ हुआ।

इसके उपरांत उन्होंने कहा कि देश को जगतगुरु की उपाधि दिलाने के लिए सभी को एकजुट होना होगा। उन्होंने कहा कि परमात्मा के साक्षात्कार के लिए भी आपसी सछ्वाव व मन में प्रेम का होना जरूरी है। मंच संचालन स्वामी विश्वानंद द्वारा किया गया। स्वामी रणजीतानन्द जी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी, योगानंद जी सहित ऋषि मुनियों ने भी परमात्मा का साक्षातकार भक्ति से किया था। जीवन में पूर्ण गुरु का ज्ञान प्राप्त करने के लिए समर्पण भाव का होना बहुत जरूरी है। गुरु के ज्ञान से ही अंधेरे में प्रकाश का अनुभव किया जा सकता है। धार्मिक ग्रंथों में भी गुरु के बिना ज्ञान को अधूरा बताया गया है। इसके उपरांत उन्होंने कई मनमोहक भजन प्रस्तुत किए, जिन पर श्रद्धालु मंत्रमुग्ध होकर झूम उठे। आरती पूजा के उपरांत भंडारे का आयोजन किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!