जालंधर, जेएनएन। कोविड-19 की वजह से राज्य भर के सरकारी स्कूलों में इन दिनों ऑनलाइन क्लासें चल रही हैं। फिर वो जूम एप के जरिये हो, वाट्ससएप हो या फिर गूगल ड्राइव की मदद से। शिक्षक हर विषय को ज्ञान बच्चों को दे रहे हैं। मगर शिक्षा विभाग की तरफ से कंप्‍यूटर विषय को बढ़ाने प्रति कोई रूझान नहीं दिखाया गया था। जिसके चलते खुद सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले कंप्‍यूटर विषय के शिक्षकों ने अपने स्तर पर ही विद्यार्थियों को पढ़ाया और और ऑनलाइन हो साढ़े चार लाख से अधिक बच्चों का टेस्ट लेकर उनके ज्ञान का आंकलन किया गया। सभी विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट भी जारी किए जाएंगे।

सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल खुसरोपुर के कंप्‍यूटर शिक्षक बरिंदर सिंह बताते हैं कि कंप्‍यूटर विषय के प्रति विद्यार्थियों की रुचि को बढ़ाने के लिए ही सभी कंप्‍यूटर शिक्षकों व संबंधित अध्यापक संगठनों ने मिलकर सहयोग किया। हालांकि सरकार और शिक्षा विभाग की तरफ से लाॅकडाउन में इस विषय को पढ़ाने के लिए कोई हिदायतें नहीं दी थी। इसके बावजूद अध्यापक बच्चों को ज्ञान बांटने में जुटे रहे और यही कारण है कि बच्चों को लॉकडाउन के दौरान दिए गए ज्ञान का आंकलन करने के लिए ऑनलाइन टेस्ट लिया गया। इस टेस्‍ट में कुल 4,57,993 विद्यार्थियों ने भागीदारी निभाई। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!