जालंधर, जेएनएन। जालंधर में शुक्रवार को 8 नए मामले सामने आए हैं। जिले में अब कोरोना वायरस से संक्रमित कुल लोगों की संख्‍या 247 हो गई है। एक्टिव केस की संख्‍या अब 41 हो गई है। पॉजिटिव आए मरीजों में तीन तीन महिलाएं व पांच पुरुष हैं। इनमें दो जालंधर हाइट्स, एक रविंदर नगर, एक मॉडल हाउस, एक न्यू जवाहर नगर, एक इंडस्ट्रियल एरिया, एक भार्गव कैंप व एक अमर नगर से है।

आरपीएफ जवान की लुधियाना में मौत

कोरोना से जालंधर में रहने वाले आरपीएफ के जवान की वीरवार को लुधियाना के सीएमसीएच में सुबह 11:30 बजे मौत हो गई। उनकी पहचान करोल बाग में रहने वाले 49 साल के पवन कुमार के रूप में हुई है। इसके साथ ही जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या आठ हो गई है। सेहत विभाग के अनुसार आरपीएफ जवान पवन को 18 मई को कोरोना की पुष्टि हुई थी। 22 मई को उनकी तबीयत खराब होने के बाद उन्हें सीएमसीएच लुधियाना में भर्ती करवाया गया था। शुगर के रोगी पवन की छाती निमोनिया से पूरी तरह से जकड़ी गई थी और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। उनकी हालत लगातार बिगड़ती गई और वीरवार की सुबह 11: 30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। वीरवार शाम को पूरे सम्मान के साथ लुधियाना में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

सेहत विभाग के नोडल डॉ. टीपी सिंह का कहना है कि वीरवार को 194 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए सरकारी मेडिकल कालेज अमृतसर में भेजे गए। वीरवार को 443 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है।

सैंपल लेने की नीति में बदलाव से बढ़ा बोझ

जालंधर: सेहत विभाग की ओर से कोरोना को जड़ से खत्म करने के लिए सैंपल लेने की नीति में बदलाव किया है। सेहत विभाग भारी तादाद में सैंपल लेकर जांच के लिए भेजेगा। इनमें गर्भवती महिलाएं, कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे स्टाफ के सदस्य, हाई रिस्क राज्यों व विदेश से आए एनआरआइज, खांसी, नजला व जुकाम तथा बुखार वाले मरीज, टीबी के मरीजों के अलावा सांस की बीमारियों वाले मरीज भी शामिल हैं। इससे सेहत विभाग पर कामकाज का बोझ बढ़ गया है।

22 यात्रियों को क्वारंटाइन सेंटरों से भेजा घर

जालंधर: जिले में विभिन्न राज्यों से आए लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वीरवार को उन्हें घर में क्वारंटाइन करने के लिए भेजा गया। जिला सेहत अधिकारी डॉ. एसएस नांगल ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से एनआइटी में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में विभिन्न राज्यों से 22 लोगों को क्वारंटाइन किया गया था। इनके सैंपल लकेर जांच के लिए सरकारी मेडिकल कालेज अमृतसर में भेजे गए थे। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वीरवार को उन्हें घर जाने की इजाजत दे दी गई। उन्हें अगले 14 दिन घर में ही क्वारंटाइन रहने की हिदायतें दी गई है।

आंकड़ों में गड़बड़ी दूर करने की कवायद शुरू

कोरोना के मरीजों की संख्या में घालमेल पर पर्दा डालने के लिए सेहत विभाग ने लीपापोती शुरू कर दी है। दैनिक जागरण ने दस कोरोना के मरीजों के आंकड़े में अंतर तथा लोकल व स्टेट में मरीजों की संख्या में अंतर को लेकर समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद सेहत विभाग ने मरीजों की संख्या के आंकड़ों को सही रूप देने के लिए कवायद शुरू कर दी है। वीरवार को सेहत विभाग के सिविल सर्जन ऑफिस ने कोरोना के मरीजों के आंकड़ा 241 से कम कर 239 कर दिया है। विभाग के नोडल अफसर डा. टीपी सिंह का कहना है कि स्टेट हैडक्वार्टर के साथ विचार विमर्श करने के बाद जालंधर में अन्य जिलों के रहने वाले मरीज पॉजिटिव आने के बाद संबंधित जिलों के खाते में आंकड़े शो होंगे। जालंधर में श्रीमन अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव नर्स जिला होशियारपुर तथा सिविल अस्पताल में पॉजिटिव आई नर्स जिला गुरदासपुर की रहने वाली थी। जालंधर से दो मरीज हटा कर जिला होशियारपुर तथा गुरदासपुर के खाते में डाल दिया है। 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!