जागरण संवाददाता, जालंधर।  बात वर्ष 2010 की है। घर में काम करने वाली महिला की बेटी रजनी (काल्पनिक नाम) की शादी हुए अभी महज दो माह ही हुए थे कि उसके ससुराली उसे तंग करने लगे। पंचायत के बीच तलाक हो गया, लेकिन समस्या यह थी कि रजनी क्या करें? उसकी हालत देखकर सुरिंदर कौर की संवेदना जागी और उन्होंने रजनी को आत्मनिर्भर बनाने की ठान ली। उन्होंने रजनी को न केवल ब्यूटी पार्लर का कोर्स करवाया, बल्कि बैंक से कर्ज दिलवाकर अपना पार्लर भी खुलवा दिया।

इसके बाद लायंस क्लब जालंधर की अध्यक्ष सुरिंदर कौर चौधरी ने इसे जीवन का लक्ष्य बना लिया। पिछले आठ साल में वह करीब 300 लड़कियों को आत्मनिर्भर बना चुकी हैं। अब ये लड़कियां परिवार का भी सहारा बन गई हैं। माडल टाउन की रहने वाली सुरिंदर कौर चौधरी अपने पति लायंस क्लब 321डी के पूर्व गवर्नर तथा पूर्व मल्टीपल काउंसिल चेयरमैन जेबी सिंह चौधरी की मदद से इस प्रकल्प को चला रही हैं। बकौल सुरिंदर कौर लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाना अब उनका मिशन बन चुका है।

इसके लिए लायंस भवन लाजपत नगर में नियमित रूप से सेंटर चलाया जा रहा है, जहां पर क्लब की अध्यक्ष सुरिंदर कौर करीब 40 लड़कियों को ब्यूटी पार्लर तथा सिलाई कढ़ाई का कोर्स करवा रही हैं। यहां पर ट्रेनरों द्वारा दिन में दो टाइम लड़कियों को ट्रेनिंग दी जाती है। सुरिंदर कौर बताती हैं कि वह नारी पीड़ा को समझती हैं। यही कारण है कि लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उक्त प्रयास कर रही हैं। इससे उन्हें मानसिक सुकून तो मिलता ही है साथ ही मुरझाए चेहरे पर खुशी उन्हें इस काम को जारी रखने की प्रेरणा देती है।

मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से दिलवाती हैं सर्टिफिकेट

सुरिंदर कौर चौधरी बताती हैं कि लड़कियों को सिलाई-कढ़ाई तथा ब्यूटी पार्लर की यहां पर ट्रेनिंग ही नहीं दी जाती, बल्कि मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से सर्टिफिकेट भी दिलवाया जाता है। इसके माध्यम से वह किसी भी संस्थान में आसानी से नौकरी हासिल कर सकती हैं। अभी तक 278 लड़कियों को विभिन्न संस्थानों में नौकरी दिलवा चुकी हैं। बैंक से कर्ज दिलवा खुलवा रही हैं सेंटर सुरिंदर कौर बताती हैं कि जिन लड़कियों को नौकरी नहीं मिलती, उन्हें अपना सेंटर खुलवाने के लिए भी मदद की जा रही है। इसके लिए पति जेबी सिंह चौधरी द्वारा इन लड़कियों को बैंकों से कर्ज भी दिलवाया जाता है। अभी तक 22 लड़कियों को बैंकों से कर्ज दिलवा कर अपना सेंटर खोलने में मदद की गई है।

जल्द शुरू करेंगीं कंप्यूटर ट्रेनिंग सेंटर

वह बताती हैं कि समय के साथ बढ़ती जरूरतों के बीच जरूरतमंद परिवार की लड़कियों को कंप्यूटर ट्रेनिंग देने की योजना है। इसके लिए लायंस भवन में ही सेंटर शुरू करके वहां पर कोर्स करवाए जाएंगे। वह बताती हैं कि यहां पर वह लड़कियां भी ट्रेनिंग ले सकेंगी, जो शिक्षित तो हैं, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर हैं।

Edited By: Sham Sehgal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट