जागरण संवाददाता, तरनतारन। पाकिस्तान की ओर से लगातार नापाक इरादों को अंजाम देने का प्रयास किया जा रहा है। शुक्रवार की रात को 1.30 बजे खेमकरण सेक्टर में सफेद रंग का बड़े आकार का ड्रोन भारतीय सीमा में भेजा गया, बीएसएफ के जवानों ने 28 राउंड फायर करके उसे पाकिस्तानी सीमा में खदेड़ दिया। 

भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा स्थित थाना खेमकरण की बीओपी नूरवाला पर बीएसएफ की 103 बटालियन के जवानों ने रात 1.30 मिनट पर पाकिस्तान की ओर से हरकत महसूस की। जवानों ने मौके पर रोशनी वाले दो बम फेंके। उन्होंने देखा कि पाक की ओर से कंटीली तार से महज 200 फीट की उंचाई पर सफेद रंग का बड़े आकार का ड्रोन भारतीय क्षेत्र में तेजी से बढ़ रहा था। ये ड्रोन बीओपी नूरवाला स्थित बुर्जी-148,149 के पास जब पहुंचा तो बीएसएफ जवानों ने पूरी चौकी को अलर्ट करते हुए एक-एक करके कई राउंड फायर किए।

फायरिंग के दौरान ड्रोन वापस पाकिस्तान की ओर लौट गया। सुबह बीएसएफ जवानों ने उच्च अधिकारियों को सूचित करते हुए साढ़े पांच बजे सर्च अभियान चलाया, जो दिन के 11 बजे तक जारी रहा। सर्च अभियान के दौरान किसी प्रकार की कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली। एसएसपी रंजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि थाना खेमकरण में मामला दर्ज करके जांच की जा रही है।

बीएसएफ के जवानों ने 28 जून की रात भी ड्रोन को खदेड़ा था

28 जून की रात को भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित बीएसएफ की 71वीं बटालियन के जवानों ने सिंहपुरा सीमा के पास पाकिस्तान की तरफ से ड्रोन भारतीय क्षेत्र में दाखिल होते देखा था। बीएसएफ जवानों ने गोलीबारी की गई तो ड्रोन लौट गया था।

कहीं तस्कर मीता ड्रोन के जरिये तो नहीं मंगवाता है हेरोइन 

गत शुक्रवार को गुरदासपुर पुलिस ने जम्मू-कश्मीर के बार्डर के जरिये पाकिस्तान से मंगवाई 16 किलो 800 ग्राम हेरोइन सहित चार तस्करों को काबू किया गया था। इन तस्करों का मुख्य सरगनी मनप्रीत सिंह उर्फ मीता निवासी गांव चीमा कलां, थाना सराय अमानत खां जिला तरनतारन अभी फरार है। पुलिस इस पहलू पर भी जांच कर रही है कि कहीं मीता ने पाक में संपर्क बनाकर नशा और असलहे की स्मगलिंग के लिए ड्रोन भारतीय क्षेत्र में तो नहीं मंगवाया गया।

Edited By: Pankaj Dwivedi