जागरण संवाददाता, जालंधर। महानगर में वीरवार की सुबह की शुरुआत घने कोहरे और शीतलहर से हुई। इसकी वजह से ठिठुरन भी बरकरार है। अगले एक-दो दिन के दौरान आसमान साफ होने व धूप निकलने से लोगों को थोड़ी राहत मिलने के आसार हैं। वीरवार को सुबह शहर के बाहरी इलाकों में धुंध का ज्यादा प्रभाव रहा। मुख्य मार्ग पर धुंध वजह से वाहनों की रफ्तार धीमी पड़ गई। हाईवे पर लोग लाइट जलाकर वाहन चलाते दिखे। वाहन सड़कों पर रेंगते दिखाई दिए वहीं कुछ जगह पर जाम रहा। अधिकतम 14 व न्यूनतम तापमान 9 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।

इससे पहले, बुधवार को भी ठिठुरन बरकरार रही। दोपहर को हल्की धूप खिलने के कारण शहरवासियों को ठंड से राहत मिलने की आस जगी थी लेकिन वीरवार सुबह गहरे कोहरे ने इस पर पानी फेर दिया। सर्दी और आसमान में बादल छाय की वजह से लोग घरों से कम ही बाहर निकलते हैं। भीड़ वाले कई बाजारों में सन्नाटा पसरा रहता है।

ये है कड़ाके की ठंड का कारण

पश्चिम विक्षोभ का प्रभाव इस बार मौसम पर पड़ा है। लोगों को ठंड का कहर लगातार झेलना पड़ेगा। इसके अलावा पहाड़ी इलाकों में हो रही हिमपात के चलते मैदानी इलाकों में; शीत लहर व आसमान में बादल छाए रहने का दौर बरकरार रहेगा। 

अगले कुछ दिन ये है मौसम को लेकर भविष्यवाणी

मौसम विज्ञानी डा. वीनित शर्मा के मुताबिक अगले दो दिन तक धुंध रहने की संभावना है। आसमान में बादल छाए रहेंगे। हालांकि, सप्ताह के मध्यांतर के बाद आसमान साफ रहने और धूप खिलने तो दोपहर के समय लोगों को ठंड से कुछ हद तक निजात मिल सकती है। हालांकि, तड़के व रात को तापमान में गिरावट का सिलसिला बरकरार रहेगा।

Edited By: Pankaj Dwivedi