मनुपाल शर्मा, जालंधर। पंजाब विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भ्र्ष्टाचार की पोल जालंधर नगर निगम की ओर से नई बनवाई गईं सड़कों ने खोल दी है। पहले सवा करोड़ की लागत से बिछाई गई लाडोवली रोड और अब लायलपुर खालसा कालेज फार वुमन के आगे से कैंट की तरफ जा रही रोड बुरी तरह उखड़ गई है। नगर निगम की कारगुजारी की पोल उखड़ रही सड़कें खोल रही हैं। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले नगर निगम ने जितनी भी सड़कें बिछाई हैं, उनमें से अधिकतर टिक ही नहीं पाईं। डिफेंस कालोनी फ्लाईओवर के नीचे से लेकर लायलपुर खालसा कालेज फार वुमन के समक्ष लगभग 100 मीटर के हिस्से में कुछ दिन पहले सड़क बिछाई गई थी, जो अब केवल बजरी का ढेर बनी नजर आ रही है।

मौका देखकर साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि भ्रष्टाचार करके सड़क पर केवल बजरी बिछाई दी गई। उसमें लुक की मात्रा बेहद कम डाली गई। यही वजह रही कि मात्र कुछ ही दिन में बजरी उखड़ गई। अब हालात यह हो गए हैं कि उखड़ी हुई बजरी से गुजर रहे वाहन स्लिप हो रहे हैं। दोपहिया के अलावा चौपहिया वाहन तक इस बजरी की वजह से आसानी से नहीं निकल पा रहे हैं। सड़क में कहीं-कहीं बजरी अभी जुड़ी हुई है और यह भी वाहनों के संतुलन को बिगाड़ रही है।

सड़क निर्माण के नाम पर की गई लीपापोती

क्षेत्र निवासी डॉ राजेश शर्मा ने कहा कि इस सड़क के आसपास शैक्षणिक संस्थान मौजूद हैं। छात्र एवं अध्यापक दोपहिया वाहनों पर यहां से गुजरते हैं। सड़क का जो हाल है, उसके चलते कभी भी कोई वाहन सवार हादसे का शिकार हो सकता है। एडवोकेट मनदीप सिंह सचदेवा ने कहा कि सड़क के नाम पर की गई लीलापोती की जांच करवाई जानी चाहिए। सड़क के निर्माण को सही बताने वाले निगम अधिकारियों एवं सड़क बनाने वाले ठेकेदार के ऊपर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

Edited By: Pankaj Dwivedi