जागरण संवाददाता, जालंधर। वीरवार दोपहर बाद हुई बारिश के बाद शुक्रवार का दिन भी बौछारें लेकर आया है। जालंधर शहर में सुबह दस बजे के बाद से हल्की बूंदाबांदी जारी है। इसके कारण हवा में ठंडक बढ़ गई है। इस बार के मानसून सीजन में उम्मीद से कम वर्षा दर्ज की गई है लेकिन जाते-जाते अब यह कुछ भरपाई करता नजर आ रहा है।  

इससे पहले, वीरवार दोपहर बाद हुई मुसलधार वर्षा ने लोगों को गर्मी और उमस से राहत दी थी। भले ही यह वर्षा करीब 40 से 45 मिनट तक ही हुई, लेकिन, इसके साथ चली हवाओं के कारण मौसम का मिजाज बदल गया। इस बीच दिन भर अधिकतम तापमान 33.2 तथा न्यूनतम 23.2 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया। उधर, मौसम विभाग द्वारा आने वाले दो घंटे के दौरान आसमान में बादल छाए रहने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि, दोपहर के समय धूप खिली रहने के कारण गर्मी के प्रकोप से पूरी तरह से निजात नहीं मिलेगी।

दरअसल, सितंबर के मध्यांतर के बाद उमस के साथ-साथ गर्मी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। वहीं, वीरवार को दिन भर आसमान में बादल छाए रहने तथा बाद दोपहर को वर्षा के बाद मौसम का मिजाज बदल गया। इस कारण शहर के कई इलाकों में जलभराव भी हुआ, जिससे शहर की सीवरेज व्यवस्था का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

थोड़े समय के लिए हुई वर्षा के बाद गुड़ मंडी, मास्टर तारा सिंह नगर, पंजपीर, पीर बोदला बाजार सहित कई इलाकों में जलभराव हो गया। इस बारे में मौसम विशेषज्ञ डा. विनित शर्मा बताते है कि कमजोर मानसून के कारण ही वर्षा कम हो रही है। उन्होंने कहा कि पश्चिम विक्षोभ के बीच आने वाले कुछ दिनों तक आसमान में बादल छाए रहेंगे। सप्ताह के अंतिम दिनों में हल्की वर्षा की संभावना है।

Edited By: Pankaj Dwivedi