मनुपाल शर्मा, जालंधर। ट्रैफिक और अतिक्रमण से घिरी सड़कों से होते हुए महानगर के सिटी रेलवे स्टेशन तक ट्रेन पकड़ने के लिए समय पर पहुंच पाना बड़ी चुनौती बन चुका है। शहर के भीतर से रेलवे स्टेशन की तरफ जाने वाली तंग रेलवे रोड पर दोपहिया वाहनों के अलावा कारों, ट्रकों और बसों का आवागमन होता है।। इससे सिटी रेलवे स्टेशन के आसपास के क्षेत्र में हर समय ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति बनी रहती है।

मदन फ्लोर मिल चौक से सिटी रेलवे स्टेशन की तरफ जाते हुए बाईं तरफ मंडी फेंटनगंज भी पड़ती है। मंडी में सामान लेकर आ रहे कमर्शियल वाहन अक्सर ट्रैफिक में बाधा पैदा करते हैं। इसके अलावा इस रोड के दोनों तरफ बीते कई वर्षों से अतिक्रमण भी हुआ है। बेहद तंग मार्ग के दोनों तरफ खरीदारी करने आने वाले लोग अपने वाहन भी खड़े कर देते हैं। इस कारण रोड पर ट्रैफिक लगभग फंस कर रह जाता है। ऐसा ही कुछ हाल भगत सिंह चौक और दोमोरिया पुल की तरफ से आ रहे रोड का भी है। इस पर बसों, ट्रकों समेत अन्य कमर्शियल वाहनों का आवागमन ट्रैफिक को बाधित करता है। 

खास बात यह है कि रेलवे की तरफ से अपने परिसर से निकल कर जा रही रोड के ऊपर कोई हाइट बार नहीं लगाया गया है। इससे भारी वाहनों के प्रवेश को क्षेत्र में रोका नहीं जा सकता है। सुबह और शाम हालात ऐसे हो जाते हैं कि ट्रेन पकड़ने के लिए जा रहे यात्रियों की ट्रेन छूटने तक की नौबत आ जाती है। यूं तो मदन फ्लोर मिल की तरफ जाते रोड को वनवे किया गया है लेकिन आमतौर पर दोनों तरफ से ही ट्रैफिक चल रहा होता है। यहां लगा ट्रैफिक जाम पूरी परिवहन व्यवस्था को ही बिगाड़ देता है।

Edited By: Pankaj Dwivedi