जालंधर, जेएनएन। सेहत विभाग की ओर से वैक्सीन की सप्लाई होते ही लोगों में उत्साह बढ़ने लगा है। दस दिन के बाद 18-44 साल आयु वर्ग के लोगों को मुफ्त वैक्सीन का इंतजार खत्म हुआ। शनिवार को इस वर्ग के 12 हजार कोविशिल्ड की डोज विभाग को मिली। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. राकेश चोपड़ा ने बताया कि शनिवार को जिले के करीब 97 सेंटरों में 7960 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। इनमें कोविशिल्ड व कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने वाले भी शामिल हैं।

वहीं 18-44 साल के लोगों को भी पहली डोज लगी। सेहत विभाग के स्टोर में 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए 5600 कोवेक्सीन व 6620 कोविशिल्ड की डोज पड़ी है। इसके अलावा 18-44 साल आयु वर्ग के लोगों के लिए पैसों का भुगतान कर लगना वाली 3590 डोज कोवैक्सीन और मुफ्त में लगने वाली कोविशिल्ड की 4100 डोज पड़ी है।

ब्लैक फंगस का एक ही मरीज रिपोर्ट

जालंधर: ब्लैक फंगस के मरीजों की रफ्तार कम होने लगी है। शनिवार को ब्लैक फंगस के निजी अस्पताल में एक मरीज रिपोर्ट हुआ। किसी मरीज की मौत नही हुई है। डा. टीपी ङ्क्षसह ने बताया कि शुक्रवार को मरीजों की संख्या 71 तक पहुंच गई है। जिले में ब्लैक फंगस से 17 मौतें हो चुकी हैं।

उधर, शनिवार को 58 दिन बाद कोरोना से एक दिन में दो मौतें हुई। इससे पहले 15 अप्रैल को एक दिन में दो मौतें हुई थी। शनिवार को 91 लोग कोरोना की चपेट में आए। वहीं 235 मरीज कोरोना से जंग जीतने के बाद घर पहुंचे। कोरोना के मरीजों की संख्या होने के बाद इस माह की शुरुआत से मौतों के आंकड़े में गिरावट दर्ज होने लगी है। जिले में पिछले 12 दिन में 1799 मरीज रिपोर्ट हुए और 59 मरीजों की मौत हो गई। हालांकि इससे पहले 14 मई को कोरोना से एक दिन में 13 मौतें भी दर्ज हो चुकी हैं।

Edited By: Vikas_Kumar