जागरण संवाददाता, जालंधर : टोक्यो ओलिंपिक में आज भारत-बेल्जियम की सेमीफाइनल में टक्कर होगी। मैच को लेकर हाकी प्रेमियों में उत्साह है। टीम जीतती है तो चार दशक बाद भारत को हाकी में मेडल पक्का है। संभावना जताई जा रही है कि जालंधर के चारों खिलाड़ियों को मौका मिलेगा। वरुण व हार्दिक तो गोल भी कर चुके हैं जबकि मनप्रीत व मनदीप मजबूत डिफेंस के जरिए कई गोल बचा चुके हैं। वरुण कुमार के पिता ब्रह़्मानंद ने कहा कि फोन पर बेटे से बात हुई थी। सेमीफाइनल मैच में सौ प्रतिशत देने की बात कही है। हर मैच में टीम उत्साह व मनोबल के साथ मैदान में उतर रही है। टीम उम्दा प्रदर्शन करने के लिए तैयार है। मनदीप सिंह के भाई हमिदर सिंह ने कहा कि आस्ट्रेलिया की हार के बाद टीम ने हर मैच में शानदार प्रदर्शन किया है। मनदीप का फोन आया था कि बेल्जियम टीम के साथ भी बेहतर प्रदर्शन करना होगा। टीम में उत्साह है। हार्दिक सिंह ने भी पिता वरिदरप्रीत से फोन पर बात की। कहा कि टीम का हर खिलाड़ी उत्साहित है। सेमीफाइनल में जीत दर्ज करना चाहते है। वाहेगुरु से यही अरदास है कि फाइनल में पहुंचकर स्वर्ण पदक पर मुहर लगाए।

---------------------------------- ओलिंपियंस ने कहा-डिफेंस मजबूत रखना होगा, शुरुआत में गोल कर दबाव बनाना जरूरी

ओलिंपियन गुनदीप कुमार ने कहा कि भारतीय हाकी टीम को डिफेंस मजबूत रखने के साथ-साथ तेज हाकी का प्रदर्शन करना होगा। मैच के पहले क्वार्टर में भारत को दो गोल से बढ़त हासिल कर विरोधी टीम पर दबाव बनाना होगा। ओलंपियन गुरबाज सिंह ने कहा कि पेनाल्टी कार्नर को गोल में तब्दील करना होगा। मैच में किसी प्रकार की गलती की गुजाइंश नहीं होगी। सकारात्मक सोच के साथ मैच में उतरे और बढि़या मैच खेलें।

Edited By: Jagran