जागरण संवाददाता, जालंधर : इकहरी पुली में सीवरेज जाम की समस्या को लेकर लोगों का रोष बढ़ता जा रहा है। इसे लेकर सोशल सोसायटीज भी नगर निगम के खिलाफ मैदान में उतर आई हैं। दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच के प्रदेश प्रधान किशन लाल शर्मा ने निगम के खिलाफ धरने की चेतावनी दी है और कहा कि कई महीनों से एक छोटी सी समस्या हल नहीं हो पा रही है तो नगर निगम शहर में काम क्या करवाएगा। किशन लाल शर्मा ने कहा कि दैनिक जागरण ने जो मुहिम शुरू की है वह जनहित में है और वे इसका पूरा साथ देंगे। उन्होंने कि शुक्रवार को वह खुद मौका देखेंगे और नगर निगम के खिलाफ धरना देंगे। उधर नगर निगम के लाख दावों के बावजूद भी इकहरी पुली में सीवरेज समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। यहां पर पानी पहले से कम हुआ है लेकिन ऐसे हालात नहीं है कि लोग यहां से निकल सकें। अभी भी लोगों को दूसरे रास्तों से घूमकर आना जाना पड़ रहा है। कारोबारी भी परेशान है क्योंकि यहां पर लकड़ी के कई कारीगर और शोरूम है और सबका काम प्रभावित हो रहा है। धार्मिक स्थानों पर लोग बड़ी मुश्किल से पहुंच पा रहे हैं और इससे श्रद्धालुओं की भावनाएं भी आहत हो रही हैं।

--------

निगम के इंजीनियर्स फेल हुए

दुकानदार सुक्खा ने कहा कि नगर निगम पर 25 साल से कोई असर नहीं है। हैरानीजनक है कि इतने इंजीनियर्स होने के बाद भी अभी तक यहां से पानी की निकासी के लिए कोई योजना नहीं बन पाई है। पूरा सिस्टम ही फेल हो गया है। कामकाज ठप हो गया

शिव कुमार पप्पू ने कहा कि नगर निगम अगर यहां पर जल्द समस्या का समाधान नहीं करता है तो निगम के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर समस्या ऐसी ही बनी रहती है तो लोगों का कामकाज बिल्कुल ठप हो जाएगा और इसकी पूरी जिम्मेदारी नगर निगम और पंजाब सरकार की होगी। ..तो फिर हमें मुआवजा दे निगम

रणजीत सिंह ने कहा कि लोग धार्मिक स्थानों पर जाने के लिए भी परेशान हैं। जो लोग बाहर से यहां आते हैं उनके लिए पवित्र जगहों पर जाना मुश्किल हो रहा है और रास्ता ढूंढना पड़ता है। सीवरेज जाम की समस्या के कारण लोगों को जो नुकसान उठाना पड़ा है उसके लिए नगर निगम मुआवजा दे। यहां पर कई लोगों के कारोबार बंद हो गए हैं और कईयों की प्रापर्टी डेड हो गई है।

Edited By: Jagran