करतारपुर, जेएनएन। नगर में चारों ओर कूड़े के ढेर नजर आ रहे हैं और उस पर मंडरा रहे पशु दुर्घटना को दावत दे रहे हैं। गंदगी के ढेर संक्रामक बीमारियों को दावत दे रहे हैं। इस तरफ नगर कौंसिल करतारपुर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही। शहर में गंदगी फैलने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वच्छ भारत मुहिम को ठेंगा दिखा रही नगर कौंसिल की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लग रहा है। कौंसिल ने सफाई का ठेका प्राइवेट हाथों में दिया हुआ है। सोमवार से सफाई कर्मचारी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। हड़ताल के चलते करतारपुर कूड़े के ढेर पर खड़ा हो गया है। चारों तरफ कूड़ा ही कूड़ा नजर आ रहा है। आज जब दैनिक जागरण ने शहर का दौरा किया तो हालात कुछ इस तरह दिखाई दिए।

आर्य मॉडल स्कूल गोशाला-गंगसर रोड इस सड़क पर गंदगी का आलम था। सड़क किनारे बिखरी गंदगी पर आधा दर्जन के करीब पशु खड़े थे जो सड़क के गुजरने वाले के लिए दुर्घटनाओं का खतरा पैदा कर रहे थे। कूड़े से उठती बदबू से लोग मुंह पर कपड़ा रखकर गुजरने को मजबूर थे। किला कोठी चौक कुछ ऐसा ही नजारा किला कोठी चौक का था। सबसे व्यस्त रहने वाले इस चौक के पास करीब आधा दर्जन स्कूल और आधा दर्जन धार्मिक स्थल हैं। यहां भी काफी कूड़ा जमा हो गया है। वहां से गुजरने वाले लोग नगर कौंसिल को कोसते हुए आगे बढ़ रहे थे। नगर कौंसिल बेखबर सारे शहर में कूड़े के ढेर लग चुके हैं, लेकिन नगर कौंसिल बेखबर है। करतारपुर में सफाई का ठेका प्राइवेट हाथों में देने के बावजूद सफाई शहर को साफ रखने में असफलता ही मिली है। गंदगी के कारण चारों ओर विधायक सुरिंदर सिंह चौधरी व कौंसिल की किरकिरी हो रही है।

लोगों ने की कूड़े के ढेर को उठाने की मांग 

करतारपुर के निवासी कूड़े के ढेरों से बेहद परेशान हैं। सिविल अस्पताल, नगर कौंसिल के बाहर, आर्य मॉडल स्कूल के बाहर, किला कोठी चौक, दयालपुर गेट, आर्य नगर और अन्य स्थानों पर कूड़े के ढेर लगे हैं। इससे उठती बदबू से जीना मुहाल हो गया है। करतारपुर वासियों ने कूड़े के ढेरों को उठाने की मांग की है।

हड़ताल खत्म करवा कर जल्द उठाया जाएगा कूड़ा

इस संबंध में नगर कौंसिल के सीनियर वाइस प्रधान अमरजीत कौर ने कहा कि सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के चलते तीन दिन से सफाई नहीं हो सकी है। जल्द ही हड़ताल खत्म करवा कर गंदगी के ढेरों को उठवाया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!