जागरण संवाददाता, जालंधर

दो साल पहले पुलिस और गैंगस्टर विक्की गोंडर के साथियों के बीच हुई मुठभेड़ के मामले में भगोड़े गुरदासपुर के गैंगस्टर हरमनदीप सिंह उर्फ प्रिंसदीप उर्फ अंग्रेज सिंह को थाना सात की पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

थाना सात के एडिशनल एसएचओ एसआइ नौनिहाल सिंह ने बताया कि दो साल पहले एसटीएफ के साथ स्थानीय पुलिस ने छोटी बारादरी में ताज होटल के पास स्थित कोठी नंबर 204 में गुप्त सूचना के आधार पर दबिश दी थी। पुलिस को सूचना थी कि गैंगस्टर इलाके में डकैती की साजिश रच रहे हैं। रेड के दौरान गैंगस्टर विक्की गोंडर के साथियों ने पुलिस पर फायरिग कर दी थी। रेड के दौरान पुलिस ने गैंगस्टर हरमंदीप सिंह, उसके तीन साथी गुरदासपुर निवासी दमनप्रीत सिंह, रणबीर सिंह उर्फ बीरा और भारत भूषण को मौके से ही काबू कर लिया था। हालांकि हरमनदीप सिंह फरार होने में कामयाब हो गया था।

एसआइ नौनिहाल सिंह ने बताया कि आरोपित गैंगस्टर हरमनदीप सिंह जेल से जमानत पर छूटने के बाद वापस जेल नहीं लौटा था। उसे कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर दिया था। इसके बाद जालंधर में पुलिस से मुठभेड़ के बाद फरार होने पर पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई थी कि इस दौरान बुधवार को सूचना के आधार पर उसे बस स्टैंड के पास से काबू कर लिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!