जागरण संवाददाता, बठिंडा। बठिंडा में अकाली दल के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किए जाने के विरोध में पूर्व विधायक सरूप चंद सिंगला ने साथियों समेत वर्धमान पुलिस चौकी के बाहर धरना लगाकर कांग्रेस पर धक्केशाही के आरोप लगाए। शिअद के पूर्व विधायक सरुप चंद सिंगला ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल के आईटी विंग के वर्कर मनप्रीत सिंह के खिलाफ झूठा केस दर्ज किया है।

सरूप चंद सिंगला ने कहा कि राजनीतिक रंजिश के चलते पुलिस ने कांग्रेस नेताओं की शह पर उक्त मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि बिना किसी कारण मनप्रीत के खिलाफ केस दर्ज कर उसे थाने में बंद किया गया है, मनप्रीत आइटी विंग का प्रधान होने के चलते शिअद से संबंधित अपनी सेवा निभा रहा है। इसलिए जानबूझ कर तथा उस पर प्रेशर बनाने के लिए उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राजनीतिक रंजिश के चलते अकाली नेता तथा वर्करों को निशाना बना रहे हैं लेकिन उनकी इस कार्रवाई के आगे अकाली वर्कर झुकने वाले नहीं है बल्कि वे डटकर उनका मुकाबला करेंगे।

सिंगला ने बताया कि आइटी सेल के इंचार्ज मनप्रीत सिंह ने बलराज नगर में पार्टी का एक लाइव प्रोग्राम करवाया था, जिसको इलाके के लोगों ने समर्थन भी दिया। लेकिन कांग्रेसियों ने धक्केशाही करते हुए उसको बिना किसी बात के गिरफ्तार करवा दिया। यहां तक कि पुलिस ने भी कांग्रेस के इशारे पर मनप्रीत को गिरफ्तार कर लिया। सिंगला ने बताया कि इसके रोष में उनको पुलिस चौकी का घेराव करना पड़ा। जबकि उनका यह धरना मनप्रीत को रिहा करने तक जारी रहेगा। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि पुलिस ने उक्त मामला रद नहीं किया तो संघर्ष को और तेज किया जाएगा।

दूसरी तरफ पुलिस चौकी के इंचार्ज दर्शन सिंह ने बताया कि मनप्रीत सिंह के खिलाफ पार्षद विक्रम क्रांति ने मारपीट करने की कोशिश की शिकायत दी थी। इसलिए उसको गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है। वहीं विक्रम क्रांति ने कहा कि मनप्रीत सिंह सरकारी ईंट की चोरी करवा रहा था। जिसको रोका गया तो मनप्रीत ने कुछ लोगों को उसकी मारपीट के लिए लगा दिया। जिसके बाद उसने भागकर जान बचाई तो पुलिस को शिकायत दी।

Edited By: Pankaj Dwivedi