जागरण संवाददाता, जालंधर : सिटी रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को शीघ्र ही स्टेशन पर विरासती झलक दिखने को मिलेगी। यह लक्ष्य स्टेशन के चीफ हेल्थ इंस्पेक्टर (सीएचआई) मनोज कुमार ने अपना रखा है। लुधियाना रेलवे स्टेशन में 2000 व्यर्थ प्लास्टिक की बोतलों की मदद से देश का पहला वर्टिकल गार्डन बनाने वाले चीफ हेल्थ इंस्पेक्टर मनोज कुमार जालंधर रेलवे स्टेशन की भी नुहार बदलेंगे।

स्टेशन पर होगा ग्रीनरी का अहसास

बेहतर कार्यों की वजह से इसी साल जीएम अवार्ड से सम्मानित मनोज कुमार ने अपनी ट्रांसफर जालंधर स्टेशन पर होने के बाद इस पर काम भी शुरू कर दिया है। उनके अनुसार उनकी कोशिश है कि यहां आने वाले यात्रियों को स्टेशन की विरासती झलक तो दिखे ही साथ ही उन्हें स्टेशन पर ग्रीनरी का अहसास भी हो और वे भी पर्यावरण प्रति सचेत हों। इसके लिए वे जालंधर स्टेशन पर भी वेस्ट मटीरियल की मदद से वर्टिकल गार्डन बनाएंगे।

जालंधर सिटी रेलवे स्टेशन के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी मनोज कुमार।

रेल यात्रियों की फेंकी गईं बोतलें आएंगी काम

इस काम के लिए उन्होंने रेल यात्रियों की ओर से फेंकी गई प्लास्टिक की बोतलों के साथ-साथ कंडम हो चुके टायरों और अन्य व्यर्थ सामान का उपयोग करेंगे। मनोज ने कहा कि स्टेशन की लुक को बेहतर करने के लिए एनजीओ से संपर्क किया जाएगा। उनकी कोशिश है कि स्टेशन पर पंजाबी विरासत से जुड़े आर्ट की झलक दिखाई जाए। उन्होंने कहा कि देश भर के स्टेशनों की सफाई व्यवस्था का सर्वे चल रहा है और उनका इस बार फोकस स्वच्छता की तरफ है ताकि जालंधर रेलवे स्टेशन की रैंकिंग में सुधार हो।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!