संवाद सहयोगी, जालंधर

गुरु रामदास कॉलोनी में रहने वाले पूर्व एसपी दर्शनजीत सिंह ने अपनी एनआरआइ बहू पर परेशान करने और झूठे मामलों में फंसाने का आरोप लगाया है। ज्ञात हो एक दिन पहले ही दर्शनजीत सिंह की अमरीका निवासी एनआरआइ बहू ने प्रेस कांफ्रेंस कर उनके बेटे पर मारपीट का आरोप लगाया था। बहू के लगाए गए आरोपों का खंडन करने के लिए वीरवार को प्रेस क्लब में दर्शनजीत सिंह सिंह ने कहा कि उनके बेटे की कोई गलती नहीं है, बहू ही जुल्म कर रही। उन्होंने बताया कि उनके बेटे इंदरप्रीत सिंह की शादी 2012 में इंडीयाना, यूएसए निवासी युवती के साथ हुई थी। शादी से पहले बताया गया था कि लड़की यूएसए में दांतों की डॉक्टर है लेकिन बाद में पता चला कि वह डाक्टर नहीं बल्कि क्लीनिक पर हेल्पर है। शादी के बाद से ही लड़की की माता उसके घर में काफी दखल देती थी। 2015 में लड़की उनके बेटे को विदेश में ले गई जहां पर उसे तंग परेशान किया जाने लगा। वहां पर इंदरप्रीत सिंह ने ग्रीन कार्ड के लिए अप्लाई किया लेकिन उसके सारे दस्तावेज लड़की के परिजनों ने रख लिए। उन्होंने बताया कि उसके बेटे के दो बच्चे हुए। उसने पत्नी से अलग घर लेने के लिए कहा लेकिन लड़की के परिवार ने मना कर दिया। लड़की भी अपने परिजनों की बातों में आकर बेटे से विवाद करने लगी। आरोप था कि लड़की के परिवार में कोई भी काम नहीं करती बल्कि उनके बेटे को पैसे कमाने वाली मशीन बना कर रखा हुआ है। उन्होंने बताया कि 2019 को उनकी बहू का अपनी मां से झगड़ा हो गया तो दोनों पति-पत्नी अलग घर में रहने लगे। बाद में लड़की की माता ने लड़की को फिर से अपने वश में कर लिया और उन दोनों के बीच विवाद करवाने लगी। उसने बताया कि बाद में उनके बेटे पर झूठा मामला दर्ज करा दिया। वहां पर पुलिस ने जांच की तो बेटे को सही पाया और उसे क्लीन चिट दे दी। इसके बाद लड़की जालंधर आ गई और उनके पूरे परिवार पर झूठे केस करवाने लगी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!