जालंधर, जेएनएन। पांच श्रमिक ट्रेनें रविवार को जालंधर सिटी रेलवे स्टेशन से रवाना की जाएंगी। इनमें  से चार बिहार और एक झारखंड के लिए चलेगी। प्रत्येक ट्रेन में 1600 श्रमिकों को ले जाया जाएगा। यानी कि कुल आठ हजार श्रमिक अपने गृह राज्य जाएंगे। बिहार के लिए सुबह दस बजे भागलपुर की ट्रेन अपने निर्धारित समय पर रवाना हो गई। इसमें 1600 यात्रियों को रवाना किया गया। इसके बाद दोपहर एक बजे मुजफ्फरपुर, शाम चार बजे अरारिया, शाम सात बजे वैशाली और रात दस बजे झारखंड के कोडर्मा के लिए चलेंगी। बता दें कि श्रमिकों का किराया पंजाब सरकार की ओर से वहन किया जा रहा है।

जालंधर से करीब एक लाख श्रमिकों ने किया है आवेदन

कोरोना वायरस संकट के बीच लाखों श्रमिक देश के विभिन्न शहरों में फंस गए थे। लगातार कर्फ्यू के बीच जब वे अपने गृह राज्यों को लौटने के लिए मजबूर होने लगे तो केंद्र सरकार ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला लिया था। जालंधर के श्रमिकों को इन ट्रेनों से घर भेजने के लिए जिला प्रशासन ने बकायादा लोगों से आवेदन मांगे थे। जिले से करीब एक लाख आवेदन प्रशासन को प्राप्त हुए। शुरुआत में जबरदस्त भीड़ के बाद हालांकि अब घर लौटने वाले मजदूरों का ग्राफ लगातार गिरता जा रहा है। पिछले दिनों कई ट्रेनों को उनकी क्षमता से 50-60 फीसद यात्रियों के साथ रवाना करना पड़ा है। 

श्रमिकों की स्क्रीनिंक पर उठा विवाद

जालंधर में घर लौट रहे श्रमिकों के लिए कई स्क्रीनिंग सेंटर बनाए गए थे। पहले भारी भीड़ के कारण इनके स्थल कई बार बदले भी गए। हाालंकि सबसे बड़ा श्रमिकों की स्क्रीनिंक को लेकर उठा। जिला प्रशासन पर आरोप लगा कि श्रमिकों की मेडिकल जांच के नाम पर केवल खाना पूर्ति की जा रही है। एक मिनट में 20-20 लोगों की थर्मो स्कैनिंग का दावा किया जा रहा है।   

 

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!