जालंधर, जेएनएन। जिले में मिड-डे मील घर ले जाने की सूचनाएं मिलने के बाद शिक्षा विभाग ने स्कूल प्रमुखों को चेतावनी दी है। विभाग ने कहा है कि मिड-डे मील केवल स्कूल के बच्चों के खाने के लिए है। इसे किसी को अपने घर ले जाने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

दरअसल, हाल में कुछ स्कूलों में कुक कम हेल्पर के बनाए मिड-डे मील घर ले जाने के मामले सामने आए हैं। विभाग ने ऐसे स्कूल प्रमुखों को ऐसा करने वाले लगाम लगाने के लिए आदेश दिए हैं। डायरेक्टर जनरल के ओएसडी ने राज्य भर के  जिला शिक्षा अधिकारी (एलीमेंट्री और सेकेंडरी) को आदेश दिए हैं कि वह  अपने अधीन आने वाले स्कूलों व उनके प्रमुखों को चेतावनी दे कि क्योंकि स्कूल में बनाया गया खाना  बच्चों का है और इसे  कोई भी अपने घर नहीं ले जा सकता है। अगर कोई भी व्यक्ति मिड-डे मील को घर ले जाते पाया गया तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

कुक व हेल्पर और स्कूल प्रमुख पर हो सकती है कार्रवाई

आदेश में कहा गया है कि स्कूल प्रमुख कुक व हेल्पर को हिदायत दें वे किसी को घर ले जाने के लिए मिड-डे मील न दें। इस संबंध में अगर कोई भी लापरवाही बरती गई तो कुक व हेल्पर के साथ साथ स्कूल प्रमुख के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!