जागरण संवाददाता, अमृतसर/जालंधर। Punjab Politics अमृतसर में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया श्री रामतीर्थ में नतमस्तक हुए। वहीं उन्होंने कहा कि सिंघु बार्डर पर किसान आंदोलन के बीच हुई हत्या बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। बर्बरता की सारी हदें पार कर दी गईं। वहीं मनीष सिसोदिया ने कहा कि बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र 50 किलोमीटर करने का केंद्र सरकार का फैसला पंजाब की सहमति से हुआ है। केंद्र सरकार ने ऐसा करके पंजाब के लोगों की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं। मुख्यमंत्री पंजाब चरणजीत सिंह चन्नी भी इस फैसले में शामिल है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि पंजाब में सीएम का चेहरा सिख होगा। यह कौन होगा अभी तय नहीं है लेकिन जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी।

जालंधर में राम तीर्थ को लेकर करवाए गए कार्यक्रम में उपस्थित डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया व अन्य।

अमृतसर में राम तीर्थ में नतमस्तक होने के बाद मनीष सिसोदिया जालंधर में राम तीर्थ यात्रा को लेकर करवाए गए कार्यक्रम में पहुंचे। वहीं उनके साथ हरपाल चीमा व अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद रहें। बता दें कि जालंधर में भगवान वाल्मिकी जयंती को लेकर श्री राम तीर्थ अमृतसर के लिए शहर से जत्था पावन यात्रा रवाना होगा। इससे पूर्व भगवान वाल्मीकि मंदिर अली मोहल्ला में भव्य मंच सजाया गया। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भगवान वाल्मीकि जी ने पवित्र रामायण के साथ समूचे विश्व को धर्म तथा अध्यात्म की अनमोल देन दी है।

जात पात तथा वर्ग की सीमा से ऊपर उठकर इंसानियत की सेवा की प्रेरणा देने वाले भगवान वाल्मीकि जी के बताए मार्ग पर चलकर ही जीवन को सफल बनाया जा सकता है। कमेटी द्वारा शहर से निकाली जा रही भव्य यात्रा को रवाना करने के लिए शहर पहुंचे मनीष सिसोदिया ने अली मोहल्ला पर लगे मंच पर शहरवासियों को इस पावन पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि प्रभु श्री राम ने मर्यादा की पालना करते हुए वचन को निभाए जाने का संदेश दिया था, जिसे हर इंसान को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।

Edited By: Vinay Kumar