जासं, वेरका, (अमृतसर)। पंजाब कांग्रेस प्रधान पद से त्याग पत्र देने के बद विवादों में घिरे नवजोत सिंह सिद्धू की गैरहाजिरी में उनकी बेटी राबिया सिद्धू ने विधानसभा हलका अमृतसर पूर्वी में कमान संभाल ली है। यहां मंगलवार को सड़क निर्माण कार्य का शुभारंभ करते हुए राबिया ने कहा कि वह अपने पिता का एजेंडा आगे बढ़ाने के लिए मैदान में उतरी हैं।

राबिया ने कहा कि राजनीति में आने का उनका कोई इरादा नहीं है लेकिन अपने पिता के विकास के झंडे को वह जरूर सिरे चढ़ाएंगी। बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनौती दी थी कि सिद्धू जहां से भी खड़े होंगे, वहां से उन्हें हरवाएगे। पीपीसी के सचिव मास्टर हरपाल ने कहा कि कैप्टन की चुनौती का जवाब सिद्धू को हलके से 50 हजार से अधिक मतों से जितवाकर दिया जाएगा।

मंगलवार को अमृतसर पूर्वी हलके में सड़क निर्माण कार्य का उद्घाटन करती हुईं नवजोत सिंह सिद्धू की बेटी राबिया सिद्धू।

बता दें कि राबिया सिद्धू इससे पहले भी राजनीतिक गतिविधियों में पिता का साथ देती देखी गई हैं। पिछले साल मई में कृषि सुधार कानूनों के विरोध में जब किसानों का आंदोलन आरंभ हुआ था, तब नवजोत सिंह सिद्धू पटियाला में थे। उन्होंने वहां घर पर किसानों के समर्थन में झंडा फहराया था। उस समय राबिया ने पिता की गैरमौजूदगी में अमृतसर स्थित घर पर झंडा फहराया था। राबिया इंटरनेट मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहती हैं और अपनी पार्टी मूड में ग्लैमरस तस्वीरें भी पोस्ट करती रहती हैं। 

सिंगापुर और इंग्लैंड से की है पढ़ाई

इंस्टाग्राम पर अक्सर अपनी तस्वीरें पोस्ट करने वाली  राबिया सिद्धू ने अपनी आरंभिक पढ़ाई पटियाला के यादविंद्र पब्लिक स्कूल से की है। उसके बाद वह 2009 से 2013 तक पाथवेज वर्ल्ड स्कूल में पढ़ी हैं। इसके बाद उन्होंने सिंगापुर के एक जाने-माने कालेज से फैशन डिजाइनिंग में कोर्स किया और फिर लंदन एक कालेज में पढाई पूरी की। 

यह भी पढ़ें - जालंधर में युवती ने पति पर लगाया अप्राकृतिक संबंध बनाने का आरोप, रिटायर्ड अधिकारी की है बेटी

Edited By: Pankaj Dwivedi