जालंधर, जेएनएन। शहर के बहुचर्चित किडनी कांड में नामजद सर्वोदय अस्पताल के डॉ. राजेश अग्रवाल पर बुधवार को चार्ज फ्रेम नहीं हो पाए। अदालत ने इस मामले की अगली तारीख 18 दिसंबर रखी है।

अदालत में बुधवार को मामले में नामजद लोगों के वकील पेश हुए लेकिन कुछ लोगों के पेश न होने पर सुनवाई टल गई। उधर इस मामले में फंसे डॉ पुनीत ग्रोवर ने याचिका दाखिल कर कहा था कि उनका इस केस से कोई लेना-देना नहीं है। उनको इससे बाहर निकाला जाए। अदालत ने उक्त मामले की भी सुनवाई 18 दिसंबर तय की है।

यह है मामला

जालंधर पुलिस ने 30 जुलाई 2015 को किडनी कांड का खुलासा किया था। इस मामले में किंगपिन जुनैद अहमद खान, कुलदीप, सबूर अहमद खान, वरदान चंद्र राव को गिरफ्तार किया था। जांच में जुनैद ने कहा था कि उसने नेशनल किडनी अस्पताल में अपने सहित छह ट्रांसप्लांट करवाए हैं। इस मामले में उसकी मदद अस्पताल की ट्रांसप्लांट को-आर्डिनेटर साधना चोपड़ा उर्फ नीना और सुंदर लैब के हरविंदर ने की थी। इसके बाद पुलिस ने किडनी अस्पताल के यूरोलॉजिस्ट डॉ. राजेश अग्रवाल, डॉ. संजय, डॉ. सुमन मित्तल, दीपा अग्रवाल, डॉ. पुनीत पाल सिंह ग्रोवर सहित 23 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। अदालत में 23 के खिलाफ चार्ज शीट फाइल हो चुकी है।

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!