जागरण संवाददाता, अमृतसर। दिल्ली में कांग्रेस हाईकमान के साथ मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अब एक-दूसरे के रंग में रंगे नजर आए। दोनों ने जमकर एक-दूसरे की तारीफ भी की। गत दिवस विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने आए मुख्यमंत्री चन्नी ने जौड़ा फाटक अंडरब्रिज का निरीक्षण करते समय कहा कि मैं तो उपस्थिति दर्ज करवाने आया हूं। आपके पुल तीन महीने में चालू (शुरू) हो जाएंगे। चलती तो नवजोत सिंह सिद्धू की है। हलके का कोई भी काम हो, मुख्यमंत्री मैं नहीं सिद्धू हैं, साइन करवाकर जो मर्जी चालू करवा लें।

वहीं रंजीत एवेन्यू में पाइटेक्स मेले के समापन समारोह में चन्नी ने यह भी कहा कि राज्य सरकार सिद्धू के पंजाब माडल को अपनाएगी। इससे लोगों को अच्छी विचारधारा, अच्छी योजनाएं मिलेंगी और साथ ही सरकार का खजाना भी भरेगी। चन्नी ने केंद्र सरकार से पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने की मांग की और कहा कि वह जल्द ही इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखेंगे। चन्नी ने व्यापारियों के लिए अगले 10 से 15 दिन में सिंगल विंडो सिस्टम बनाने का वादा भी किया।

मुख्यमंत्री चन्नी ने गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी में भगवान वाल्मीकि, संविधान रचयिता डा. भीम राव आंबेडकर, संत कबीर, भाई जैता-भाई जीवन सिंह व मक्खन शाह लुबाना चेयरों का रस्मी उद्घाटन किया और कहा कि देश की तरक्की के लिए हर वर्ग का शिक्षित होना जरूरी है। वहीं, नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जो काम 15 साल में नहीं हुआ उसे चन्नी ने दो दिन में पूरा कर दिया। स्पोट्र्स स्टेडियम, यूबीडीसी कनाल प्रोजेक्ट और पांच फ्लाईओवरों के काम को पूरा करने के लिए 25 से 30 करोड़ रुपये मांगे तो उन्होंने तुरंत दे दिए। सिद्धू ने अपने अंदाज में कहा, ' चंपा के दस फूल, चमेली की एक कली, मूर्ख की सारी रात, चन्नी की एक गली।'

सिद्धू ने दोहराया कि अगर पाकिस्तान के साथ व्यापार खुलेगा तो 34 देशों के साथ कारोबार शुरू हो जाएगा। इससे किसान और व्यापारी भी खुश होंगे। सिद्धू ने चन्नी से मुफ्त बिजली के बजाए 24 घंटे और सस्ती बिजली देने की बात कहते हुए दावा किया कि ऐसा करने से उनकी सरकार फिर बन जाएगी।

लोग सिद्धू से ऐसे मिलते हैैं जैसे शादी में जा रहे हों

उत्तरी हलके में चन्नी ने कार्यकर्ताओं का उत्साह देखकर कहा कि सिद्धू जहां जाते हैं, वहां लोग उनसे ऐसे मिलते हैैं जैसे शादी में जा रहे हों। वहीं सुखबीर बादल और अरविंद केजरीवाल से ऐसे मिलते हैं, जैसे भोग पर आए हों। चन्नी ने शेर बोलते हुए कहा, 'सूरज, चांद, सितारे, मेरे साथ रहेंगे, जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहेंगे।'

सिद्धू के पिता के नाम पर होगा क्रिकेट स्टेडियम का नाम

विधायक सुनील दत्ती ने रंजीत एवेन्यू में बनने वाले स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का नाम सिद्धू के पिता सरदार भगवंत ङ्क्षसह सिद्धू के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा, लेकिन सिद्धू ने कहा कि उनके माता-पिता श्री गुरु रामदास जी हैं, इसलिए कॉम्प्लेक्स उनके नाम पर होना चाहिए। बाद में चन्नी ने कहा कि कॉम्प्लेक्स का नाम गुरु जी के नाम पर होगा, लेकिन यहां बनने वाले क्रिकेट स्टेडियम का नाम देश को महान क्रिकेटर, कमेंटेटर और राजनेता देने वाले सरदार भगवंत सिंह सिद्धू के नाम पर रखा जाएगा।

सिद्धू ने सीएम बनाया तो सब कहते थे इसने क्या करना है

चन्नी ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया तो सभी कहते थे कि इसने क्या करना है। अब जब सारे काम होने लगे है, तो कह रहे है कि यह काम तो होने ही थे। अब लोगों को पता चल गया है कि असली आम आदमी कौन है।

हद में रहें केजरीवाल, बहन-बेटियों तक जाना बर्दाश्त नहीं : चन्नी

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की टिप्पणी पर कड़ा एतराज जताया है। इसके साथ ही उन्हें चेतावनी दी है कि वह अपनी हद में रहें, क्योंकि बहन-बेटियों तक जाना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दरअसल, कुछ दिन पहले चरणजीत सिंह चन्नी ने एक रैली में केजरीवाल को काला अंग्रेज कहा था। चन्नी के इस बयान के जवाब में केजरीवाल ने टिप्पणी की थी, 'क्या चन्नी ने उनसे रिश्ता करवाना है।'

यहां रणजीत एवेन्यू में विधानसभा हलका उत्तरी में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए चन्नी ने राहत इंदौरी का शेर बोलते हुए कहा, 'शाख से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम, आंधियों से कह दो औकात में रहें।' चन्नी ने कहा कि केजरीवाल पंजाब आए और ऐसी गलत बात बोल गए जो उन्हें बोलनी नहीं चाहिए थी। पंजाबी अपनी बहनों और बेटियों तक जाने वाले को कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

चन्नी ने कहा कि मैंने तो केवल इतना कहा था कि दिल्ली से आकर कुछ लोग पंजाब पर राज करना चाहते है, जैसे पहले अंग्रेजों ने किया था। वह सफेद (गोरे) अंग्रेज थे, यह काले आए गए। परंतु पंजाब में पंजाब के ही लोग ही राज करेंगे। अगर केजरीवाल को काला कहने पर बुरा लगा तो मुझे बता देते, मैं उन्हें चिट्टा (गोरा या सफेद) कह देता, लेकिन रिश्ता देने की बात कहकर केजरीवाल बहुत गलत बोल गए।

सीएम किसान के घर पहुंचे खाना खाने

वहीं, सीएम चन्नी ने जमीनी स्तर पर समस्याओं को जानने के लिए अमृतसर के एक सीमावर्ती गांव में किसानों के घरों का दौरा किया। वहां एक परिवार के साथ भोजन किया। कहा, मैं लोगों के बिना शर्त प्यार और समर्थन के लिए ऋणी हूं, जो मुझे पंजाब और पंजाबियों के कल्याण के लिए और अधिक समर्पित रूप से काम करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

आइआरएस को आइएएस बोल गए चन्नी

मुख्यमंत्री चन्नी ने हैरानी जताई कि केजरीवाल आइएएस कैसे बन गए बन गए, जबकि केजरीवाल राजनीति में आने से पहले आइआरएस अधिकारी थे।

युवाओं को काम मिलने पर सुखबीर के घर पहुंचा देंगे आलू

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की ओर से आटा दाल स्कीम के साथ आलू देने की घोषणा पर चन्नी ने कहा कि युवा पीढ़ी काम मिलने पर खुद ही सुखबीर के घर आलू पहुंचा देगी, क्योंकि उच्च स्तरीय शिक्षा हासिल करने पर उन्हें रोजगार मिलेगा और वह खुद अपना घर चला सकेंगे।

Edited By: Kamlesh Bhatt