जालंधर, जेएनएन। स्पेशल ऑपरेशन यूनिट ने एक महीने में चार बुजुर्गों को निशाना बनाकर उनके एटीएम कार्ड बदलकर 70 हजार रुपये की नकदी पर हाथ साफ करने वाले जालसाज को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान न्यू गांधी नगर निवासी अंबरीश कुमार के रूप में हुई है। उसके दो साथी गांधी नगर निवासी मान सिंह और हरदियाल नगर निवासी दीपक पुलिस को चकमा देकर मौके से फरार होने में कामयाब हो गए।

एसओयू के एएसआइ मोहन सिंह ने बताया कि पुलिस पार्टी को शनिवार रात को सूचना मिली थी कि वर्कशॉप चौक के पास स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम से कुछ दूरी पर उक्त तीनों आरोपित घूम रहे हैं। सूचना के मुताबिक उक्त तीनों आरोपित बुजुर्गों को निशाना बना धोखे से उनका एटीएम कार्ड अपने कार्ड से बदलते हैं, जिसके बाद पीडि़त के बैंक खाते से हजारों की नकदी पर हाथ साफ कर देते हैं। इस पर पुलिस पार्टी ने तुरंत मौके पर रेड की, जहां दो आरोपित अंधेरा होने के कारण मौके से भाग निकलने में कामयाब हो गए। जबकि एक आरोपित पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

आरोपित से पूछताछ में सामने आया कि उक्त तीनों आरोपितों ने एक साथ मिलकर पिछले एक माह में फगवाड़ा और सोढल में स्थित बैंक एटीएम रूम में पैसे निकालने आने वाले चार बुजुर्गों को निशाना बनाया। आरोपितों ने बड़ी चालाकी से बुजुर्गों को पहले बातों में उलझाया और फिर उनका एटीएम कार्ड अपने कार्ड से बदल लिया। इसके बाद चारों एटीएम काड्र्स से अलग-अलग कुल 70 हजार रुपये निकाल लिए।

रिटायर्ड कांस्टेबल को निशाना बना ठग चुके 1.25 लाख

उक्त तीनों आरोपित को साल 2018 में थाना तीन और थाना रामामंडी की पुलिस अलग मामलों में गिरफ्तार कर चुकी है। दोनों मामलों ही कोर्ट से जमानत मिलने के बाद वह तीनों जेल से बाहर आ गए और अपने फर्जीवाड़े को पहले की तरह ही चलाने लगे। जानकारी मुताबिक दस नवंबर 2018 को रामामंडी में रहते रिटायर्ड पुलिस कांस्टेबल 62 वर्षीय निर्मल सिंह का एटीएम कार्ड धोखे से बदल उक्त तीनों आरोपितों ने उनके बैंक खाते से पांच ट्रांजेक्शन में कुल एक लाख 25 हजार रुपये निकाल लिए थे। रामामंडी पुलिस ने मामले की जांच करते हुए महज दस दिन के भीतर तीनों आरोपितों को काबू कर जेल भेज दिया था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!