जालंधर, जेएनएन। सोमवार, 8 जून। यानी सप्ताह का पहला दिन। आखिरकार, पिछले ढाई महीनों से सूने पड़े धार्मिक स्थानों पर भक्तों की आमद फिर से शुरू हो गई। उनके लिए मंदिरों के द्वार फिर खोल दिए गए। सुबह-सुबह श्रद्धालु पूरे उत्साह के साथ धार्मिक स्थानों की तरफ निकल पड़े। इधर, दस बजे तक मॉल भी खुल गए। दोनों स्थानों पर पूरी एहतियात के साथ लोगों को एंट्री दी जा रही है। गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। साथ ही, सरकारी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है।

इधर, मंदिरों में भक्तों के हाथों में ना तो फूल थे और ना ही प्रसाद। इसका कारण यह है कि धार्मिक स्थान खोलने के साथ ही सरकार ने कई तरह की गाइडलाइंस भी जारी की है। इन्हें अपनाते हुए ही धार्मिक स्थलों पर प्रवेश संभव है। कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन और कर्फ्यू के बीच धार्मिक स्थान भी बंद रखने के निर्देश दिए गए थे। इन्हें अब 8 जून से खोलने की इजाजत दी गई है। इसके साथ ही  गाइडलाइंस भी जारी की हैं, जिन्हें लागू करवाने की जिम्मेदारी प्रबंधक कमेटी की रहेगी।

एंट्री गेट पर की गई श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग

इस कारण, पंजाब की एकमात्र सिद्ध शक्तिपीठ मां त्रिपुरमालिनी धाम, श्री देवी तालाब मंदिर प्रबंधक कमेटी ने इन गाइडलाइंस को लागू करने के लिए व्यापक प्रबंध किए हैं। हालांकि श्रद्धालु नतमस्तक होने के लिए सुबह ही मंदिर में पहुंचने शुरू हो गए, लेकिन नियमों के मुताबिक ही उन्हें मंदिर में प्रवेश करने दिया गया। इस दौरान जहां श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग की जाती रही, वहीं उन्हें हैंड वाश और सैनिटाइज करने की हिदायत भी लगातार दी गई। इसी तरह गाइडलाइन के मुताबिक मंदिर में घंटा बजाने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहा। भक्तों को भी देवी-देवताओं की प्रतिमा छूने की इजाजत नहीं दी गई। मंदिर में ना तो श्रद्धालुओं को प्रसाद या चरणामृत दिया गया व ना ही मंदिर में होने वाली आरती में शामिल होने की इजाजत मिली। लिहाजा, मंदिर में अकेले पुजारी ने ही आरती उतारी।

कोवा एप के जरिये मॉल में एंट्री

जालंधर के एमबीडी मॉल के एंट्रेंस पर ग्राहक की स्कैनिंग करते हुए स्टाफ।

धार्मिक स्थानों के साथ-साथ सोमवार को शहर के मॉल भी खोल दिए गए। यहां सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस को सख्ती के साथ लागू किया जा रहा है। मॉल में प्रवेश करने से पहले थर्मल स्कैनिंग को अनिवार्य की गई है। इसके बाद कोवा ऐप के माध्यम से एंट्री दी जा रही है। शहर के एमबीडी मॉल के एंट्रेंस पर सोमवार को पीपीई किट पहने मुलाजिम तैनात किए गए। उन्होंने मॉल में आने वालों की थर्मल स्कैनिंग की। हालांकि थर्मल स्कैनिंग से लेकर तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद लोगों की पार्किंग मॉल के अंदर ही करवाई गई।

बाला जी मंदिर में एक बार में पांच श्रद्धालुओं का ही प्रवेश

जालंधरः बाला जी मंदिर बाजार शेखां में शारीरिक दूरी के साथ एक बार में केवल 5 लोगों को प्रवेश दिया गया।

पंजाब के एक मात्र श्री कष्ट निवारण बालाजी मंदिर बाजार शेखां में एक समय में केवल 5 श्रद्धालुओं का ही प्रवेश करवाया गया। कारण मंदिर के अभी तक जगह का सीमित होना रहा। मंदिर कमेटी के चेयरमैन राकेश जसूजा बताते हैं कि मंदिर के प्रवेश द्वार पर ही वाश वेशन तथा लिक्विड सोप का इंतजाम किया गया है। इसके साथ ही श्रद्धालुओं द्वारा थर्मल स्कैनिंग के बाद ही मंदिर में प्रवेश करने का प्रावधान तय किया गया है।

श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर भक्तों के लिए खुला, शारीरिक दूरी रख की पूजा-अर्चना

जालंधर। लॉकडाउन में राहत के बाद भारत नगर स्थित श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर को श्रद्दालुओं के लिए खोल दिया गया है। संयुक्त गढ़वाल सभा भारत नगर द्वारा संचालित श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर में सोमवार को सुबह पंडित रामधन शर्मा और सभा के प्रधान हीरा लाल कोठारी व महासचिव राजेस्वर सेमवाल ने पूजा-अर्चना की शुरुआत की। उन्होंने मंदिर में आने वाले सभी भक्तों से अपील की कि वो खुद ही शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मंदिर में दर्शन और पूजा- अर्चना करें। मास्क अवश्य पहनें और कोरोना से बचने के लिए सभी सावधानियों को अपनाएं।

 

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!