दीपक कुमार, करतारपुर

सीआरपीएफ कैंप में आयोजित पा¨सग आउट परेड में 44 सप्ताह के गहन प्रशिक्षण के बाद 699 जवान देशसेवा करने को ड्यूटी के लिए रवाना हो गए। सोमवार को उक्त जवानों का उत्साह व जज्बा देखते ही बन रहा था।

सुबह साढ़े 8 बजे सीआरपीएफ कैंप में डीआइजी दर्शन लाल गोला की अगुवाई में पा¨सग आउट परेड का आयोजन किया गया। इसके मुख्य मेहमान (आइजी) एनके भारद्वाज केरिपुबल थे, जिनका स्वागत डीआइजी दर्शन लाल गोला, गुलाब ¨सह कमांडेंट एटीसी जालंधर, सरबजीत ¨सह डिप्टी कमांडेंट, जीओ लाल बग्गा, कमल बराल, कुलदीप ¨सह, राजेश शर्मा (सभी अधिकारियों) ने किया। खुले प्रांगण में आयोजित परेड कार्यक्रम में आइजी एनके भारद्वाज ने परेड की सलामी ली। इस दौरान जवान मंच के सामने कदमताल के साथ गुजरे तो सारा पंडाल तालियों से गूंज उठा। उनके पैरों की थाप ने धरती हिला कर रख दी। इसके बाद आइजी एनके भारद्वाज व डीआइजी डीएल गोला ने खुली जीप में सवार होकर परेड का निरीक्षण किया। इसके बाद सीआरपीएफ के जवानों ने बहादुरी के करतब दिखाए। इस दौरान युद्ध में दुश्मनों के दांत खट्टे कर किला फतेह कर उस पर तिरंगा फहराया बारे डेमो दिखाई। इसे देख सभी ने जवानों के कार्यो पर खूब वाहवाही की।

बाद में डीआइजी दर्शन लाल गोला ने संबोधन के दौरान कहा कि 699 रिक्रूटों को 44 सप्ताह की कड़ी ट्रे¨नग में आधुनिक हथियार चलाने, देश के कानून एवं व्यवस्था संभालने और आंतरिक सुरक्षा सुदृढ़ करने का गहन प्रशिक्षण दिया गया। अंत में डीआइजी गोला ने (आइजी) एनके भारद्वाज को स्मृति चिन्ह भेंटकर स्वागत किया व जवानों के साथ यादगारी तस्वीर भी ¨खचवाई। बाद में कमांडेंट गुलाब ¨सह एटीसी जालंधर ने आए सभी मेहमानों का आभार व्यक्त किया। इस दौरान आईजी संत स्वरूप, कुलदीप ¨सह रिटायर्ड कमांडेंट भी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!