जासं, जालंधर : कोरोना की दूसरी लहर में देशभर में आक्सीजन की कमी ने दोहरी परेशानी खड़ी कर दी थी। इस बीच आक्सीजन की आपूर्ति करना किसी चुनौती से कम न था। बावजूद इसके उक्त सेवाएं देने वालों ने पीठ नहीं दिखाई। सोमवार को उक्त सेवाएं देने वालों को जिला प्रशासन की तरफ से सम्मानित किया गया। जिला प्रशासनिक कांप्लेक्स में आयोजित कार्यक्रम के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाले 58 अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। डीसी ने कहा कि अधिकारी व कर्मचारियों की कर्मठता और मेहनत के चलते कोरोना की दूसरी लहर को काबू पाया जा सका है। विभिन्न आक्सीजन प्लांटों में दी सेवाएं

कोरोना की दूसरी लहर में नकोदर के निगम कार्यालय में तैनात उमा शंकर ने जिले के विभिन्न प्लांटों में सेवाएं दी। इस दौरान वह नाइट ड्यूटी से भी पीछे नहीं हटे। सोमवार को सम्मानित होने के दौरान उन्होंने कहा कि जरूरतमंद मरीजों का आक्सीजन पहुंचाना केवल ड्यूटी नहीं बल्कि नैतिक जिम्मेदारी भी समझा जिसके चलते नाइट ड्यूटी से भी परहेज नहीं किया। उन दिनों में जरूरतमंद मरीजों की जान आक्सीजन की आपूर्ति के साथ बचाई गई। उस दौरान सेवाएं देकर मन को भी सुकून प्राप्त होता था।

Edited By: Jagran