संवाद सूत्र, शाहकोट : नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) की ओर से जालंधर-मोगा राजमार्ग पर अधूरे छोड़े गए निर्माण कार्य से रोजाना कोई न कोई हादसा हो रहा है। धुंध के कारण वीरवार को एसडीएम दफ्तर शाहकोट के सामने फ्लाईओवर से उतरते समय ट्रैफिक चिन्ह न होने के 13 गाड़ियां टकराईं। हालांकि इस दौरान कोई जानी नुकसान नहीं हुआ।

वाहन चालकों ने बताया कि एनएचएआइ ने सतलुज दरिया के पास महंगा टोल प्लाजा तो चालू कर दिया, लेकिन सड़क निर्माण अधर में ही छोड़ दिया। यहां तो ठीक ढंग से ट्रैफिक चिन्ह लगाए हैं और न ही लाइटें ठीक ढंग से काम कर रही हैं। इस कारण थोड़ी सी धुंध में हादसे हो रहे हैं। रेल लाइन पर जो फ्लाईओवर बन रहा है, वह भी मुकम्मल नहीं हुआ, जिस कारण पीछे से तेज रफ्तार में आ रहे वाहन चालक को पता ही नहीं चलता कि आगे रास्ता ठीक नहीं है।

हादसों की सूचना मिलते ही डीएसपी शाहकोट प्यारा सिंह, एसएचओ सुरिदर कुमार, एएसआइ पूरन सिंह व रेशम सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने रोड बनाने वाली कंपनी व पीडब्ल्यूडी से बात कर ट्रैफिक चिन्ह व अन्य जरूरी प्रबंध पूरे करने को कहा।

--------

टकराई गाड़ियां व जख्मी

गाड़ी जख्मी

आल्टो अजय सूद निवासी फरीदकोट

स्विफ्ट हरिदर सिंह निवासी फरीदकोट

स्विफ्ट सुशील कुमार जैन निवासी फरीदकोट

बोलेरो काला राम निवासी गांव राम दोते मानसा

एस्कॉर्ट दीदार सिंह निवासी गांव अमीवाला मोगा

डिजायर कुलविदर सिंह निवासी भगता भाइका बठिडा

कार बलजिदर सिंह निवासी फरीदकोट

ब्लैरो रंजीत सिंह निवासी गेहलड़ जालंधर

इसके अलावा कई गाड़ियों की पहचान नहीं हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!