संवाद सहयोगी, तलवाड़ा

पौंग डैम इलाके में उस समय दहशत का माहौल पैदा हो गया जब पौंग डैम के 52 गेटों के मुहाने पर ब्यास दरिया किनारे लगे हिमाचल के क्रेशर मालिक व उसके करिदें द्वारा शाह नहर की जमीन पर बनाए गए डंप की जांच के लिए शाह नहर के मुलाजिमों को बंदी बना लिया गया। जिनको सूचना मिलते पर तलवाड़ा पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छुड़ाया गया। वहीं डीसी संदीप हंस ने इस मामले का कड़ा संज्ञान लेते हुए एसएसपी सरताज चाहल को कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं।

इस संबंध में एसएचओ तलवाड़ा को दी गई शिकायत में शाह नहर के कर्मचारी जसपाल सिंह ने बताया कि वह विभाग में बतौर वर्क मुंशी तैनात है। पौंग डेम के 52 गेटों के मुहाने पर बने एक क्रेशर द्वारा शाह नहर की जमीन पर अवैध कब्जा करके डंप बनाया गया था। इस मामले का पता चलते ही विभाग के अधिकारियों ने उन्हें मौके पर जाकर जांच करने के लिए कहा था। जसपाल सिंह ने बताया कि जब वह मौके पर जांच करने के लिए पहुंचे तो क्रेशर के मालिक जोकि तलवाड़ा के रहने वाले मनोज कुमार उर्फ रिकू द्वारा विभाग की जमीन पर बनाए गए डंप से हैवी लोड गाड़ियों द्वारा माल भरकर भेजा जा रहा था। वाहन उस पुल से निकाले जा रहे थे जहां हैवी वाहन निकालने पर मना ही। वहीं एक जेसीबी क्रेशर से ब्यास दरिया के रास्ते हिमाचल प्रदेश से पंजाब की तरफ बनाए गए नाजायज रास्ते से निकाली जा रही थी। जोकि बांध के लिए घातक साबित हो सकती है। जब उन्होंने ऐसा करने से मना किया तो मनोज कुमार व उसके साथियों ने उसके साथ गाली ग्लोज शुरु कर दिया। जब उसने इस पर अधिकारियों को फोन करने की कोशिश की तो उन्होंने उसका मोबाइल छीनने की कोशिश की। जब वह पीछे हट कर इस सारे इलाके की तस्वीरें लेने लगा तो उन्होंने उसे धमकियां दी कि उसे बांध कर दरिया में फैंक देगें और उसका शव तक नहीं मिलेगा। वह घबरा गया और इस दौरान उसने तुरंत अपने साथियों को इसकी सूचना दी। इस दौरान आरोपितों ने उसे बंधक बना लिया। जसपाल सिंह ने बताया कि उसके साथियों ने तुरंत इस संबंधी पुलिस को सूचना दी व सूचना मिलते ही पुलिस पार्टी मौके पर पहुंच गई और उसे आरोपितों के चंगुल से छुड़ाया।

उन्होंने बताया कि उक्त क्रेशर मालिक द्वारा नहरी जमीन के साथ बिना किसी मंजूरी के फन पार्क व स्वीमिग पूल बनाया गया है। इस संबंधी जसपाल ने मुख्य मंत्री पंजाब व डीसी होशियारपुर संदीप हंस को शिकायत दी है। जिसमें उसने सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर डंप बनाने संबंधी व उसे जान से मारने की धमकियां देने संबंधी कहा है। शिकायत में उसने डंप के मालिक द्वारा उसे जान से मारने की धमकियां देने व ब्यास दरिया के किनारे की गई अवैध माइनिग की जांच करने व आरोपितों पर बनती कार्रवाई की मांग की है। इसमें शामिल लोगों की पहचान करके बनती कार्रवाई करने की मांग की है।

नहरी व खनन विभाग के अधिकारियों को सुबह बुलाया है : एसएचओ

एसएचओ तलवाड़ा हरगुरदेव सिंह ने बताया कि नहरी व माइनिग विभाग को सुबह बुलाया गया है, ताकि हालातों संबंधी जानकारी हासिल की जाए। उन्होंने बताया कि संबंधित जमीन की निशानदेही करके अगली कार्रवाई की जाएगी।

हिमाचली क्रेशर बिना अनुमति के पंजाब में डंप नहीं बना सकता

इस संबंध में डीसी संदीप हंस ने कहा कि कोई भी हिमाचली क्रेशर बिना अनुमति के पंजाब में डंप नहीं बना सकता। नहरी जमीन पर बनाए गए नाजायज डंप के खिलाफ व क्रेशर मालिक व करिदों की गुंडागर्दी खिलाफ एसएसपी व माइनिग अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। अगर माइनिग मामले में नहरी विभाग के अधिकारियों की शमूलियत पाई गई तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran