जेएनएन, होशियारपुर

हर शख्स अपने बच्चों पर गर्व महसूस करता है और बच्चों के भविष्य में अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहता है, पर जो बच्चे आज भी अपने भविष्य के प्रति अनिश्चित हैं, उन्हे स्थिरता देकर ही बाल दिवस का मकसद पूरा होगा। ये बात शहीद भगत ¨सह यूथ क्लब के प्रधान अर¨वद ¨बद्रा ने सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, ख्वासपुर, पुरहीरां में बाल दिवस मनाने के अवसर पर कही।

¨बद्रा ने कहा कि बेशक बच्चों के विकास के लिए बहुत से प्रयास किए गए हैं, पर आज भी जब बचपन को कूड़े के ढेर पर रोजी-रोटी तलाशते देखते हैं, तो लगता है कि अभी बहुत से प्रयास करने बाकी हैं।

वहीं, डॉ. संजय नारद ने कहा कि 14 नवंबर बच्चों के लिए मनाना है तो इस कद्र मनाएं कि पूरे साल बच्चों के लिए किए गए कार्यों का लेखाजोखा प्रस्तुत करें। इस अवसर पर प्रसिद्ध एडवोकेट बीएस रियाड़, प्रोफेसर जेएस बडियाल, क्लब के चेयरमैन राकेश सैनी, मास्टर बाल कृष्ण ने भी बच्चों को संबोधित किया व बच्चों को सर्दियों के लिए वर्दियां व जूते भी वितरित किए। इस अवसर पर स्कूल ¨प्रसिपल रमनदीप कौर, सुप्रिया ¨बद्रा व स्कूल का समूह स्टाफ भी उपस्थित था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!