रामपाल भारद्वाज, माहिलपुर : सरकार व माइनिग विभाग लाख दावे करती है कि अवैध खनन पर काबू पा लिया है परंतु इन दावों की पोल सैला खुर्द इलाके में खुल रही है। जहां खनन माफिया के लोग दिन-रात आसपास के गांवों में अवैध खनन कर यहां सरकारी खजाने को चपत लगा रहे हैं वही सरकार की खनन नीति की धज्जियां उड़ा रहे हैं। अवैध खनन माफिया ने पुलिस व खनन विभाग के कर्मचारियों से इतना तालमेल बिठा रखा है कि इनकी रेत व मिट्टी से भरी ट्रैक्टर ट्रालियां सरेआम थाने के पास से गुजरकर अपने तय स्थान पर बेरोकटोक पहुंच जाती हैं। सैला खुर्द के गांव भातपुर, जस्सोवाल व वरियाना में अवैध खनन करने वाले माफिया की जेसीबी दिन-रात अवैध खनन करने में लगी हुई हैं। इससे परेशान गांववासी इनकी शिकायत करने से भी डर रहे हैं क्योंकि खनन माफिया के लोगों का संबंध राजनीतिक व समाज विरोधी तत्वों के साथ होने के कारण जब कोई शिकायत करने की कोशिश करता है वह लोग उनके घर पहुंचकर धमकियां तक देते हैं। इस अवैध खनन की जानकारी जब भी विभागीय अधिकारियों को दी जाती है वह उक्त जगह पर तो नहीं आते बल्कि खनन करने वाले लोग वहां से रफ्फूचक्कर हो जाते हैं। खनन विभाग के एसडीओ आलोक चौधरी ने कहा कि वह इस पर कार्रवाई करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!