जागरण संवाददाता, होशियारपुर : पंचायत चुनावों को लेकर वोटरों को लुभाने के लिए इन दिनों शराब की तस्करी ने जोर पकड़ लिया है। पुलिस ने धोबीघाट के पास छापेमारी कर 605 शराब की पेटियों से भरा ट्रक पकड़ा है। इस दौरान शराब का कोई परमिट भी नहीं मिला। पक्की सूचना है यह शराब वोटरों को सप्लाई होनी थी। बता दें कि 19 दिसंबर को भी टांडा में चुनावों में सप्लाई होनी वाली 112 पेटी शराब पकड़ी थी।

जानकारी के अनुसार पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि इलाके में भारी मात्रा में पंचायत चुनावों को लेकर शराब सप्लाई हो रही है और पुलिस ने इस दौरान सूचना के आधार पर नाकेबंदी कर सर्च अभियान चलाया। गश्त के दौरान पुलिस ने बहादरपुर धोबीघाट के पास श्मशानघाट के करीब शराब से भरा ट्रक पकड़ा। इस दौरान लोग छोटे वाहनों में शराब पलटी मार रहे थे। पुलिस को देख कर आरोपित फरार हो गए, लेकिन एक आरोपित को पुलिस ने दबोच लिया। आरोपित की पहचान राहुल पुत्र चंदर निवासी जंडोली के रूप में हुई है।

जानकारी के अनुसार मौके पर दो इनोवा गाड़ियां व कुछ और वाहन थे जो पुलिस की छापेमारी के दौरान फरार हो गए। पुलिस ने इस दौरान 605 पेटी अवैध शराब बरामद की है। पुलिस ने ट्रक व एक म¨हदरा पिकअप जिसमें शराब भरी जा रही थी को कब्जे में लिया है। शराब की मार्केट में कुल कीमत 6.50 लाख रुपये है जो कि अलग-अलग गांवों में सप्लाई की जानी थी। छोटे वाहनों में भरकर पहुंचाई जानी थी गांवों तक

सूत्रों के मुताबिक यह सप्लाई पिछले कुछ दिनों से लगातार चल रही थी। शराब से भरा ट्रक सुनसान जगह पर लगा दिया जाता था और वहां से जरूरत के हिसाब से चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के समर्थक सप्लाई ले जाते थे। ट्रक से शराब छोटे वाहनों में भरकर गांवों तक पहुंचाने का सिलसिला काफी समय से चल रहा था। इनोवा की तलाश में जुटी पुलिस

जानकारी देते हुए एसएचओ सिटी गो¨बदर कुमार ने बताया कि जब वह मौके पर पहुंचे तो उन्हें देख कर दो इनोवा गाड़ियों जिसमें कुछ व्यक्ति बैठे हुए थे जो मौके से भागने में कामयाब हो गए। पुलिस ने उक्त आरोपितों को काबू करने लिए सर्च अभियान शुरू कर दिया है। गो¨बदर कुमार ने बताया कि अभी तक जांच में सारंगोवाल के रहने वाले बब्बू का नाम सामने आ रहा है। पुलिस की छानबीन जारी है। उन्होंने कहा कि यह शराब पंचायत चुनाव में सप्लाई होनी थी।

चुनाव की घोषणा के बाद से ही सरगर्म हो गया था धंधा

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चुनावों की घोषणा के बाद ही शराब के धंधे से जुड़े लोग प्रत्याशी पहुंच करने लगे थे और डिमांड के हिसाब से शराब सप्लाई शुरू कर दी थी। कई सरपंच व पंच प्रत्याशी तो ऐसे भी हैं जिन्होंने बड़ी मात्रा में शराब स्टोर भी कर ली है। सूत्रों की मानें तो पिछले दो तीन हफ्तों से तो डिमांड के हिसाब से ट्रकों में शराब सप्लाई की चुकी है। ट्रक कहीं सुनसान जगह पर पार्क कर दिए जाते हैं, जहां से शराब की सप्लाई होती है। 19 दिसंबर को 112 पेटी शराब पकड़ी गई थी

गौरतलब है कि इसके पहले 19 दिसंबर को स्पेशल ब्रांच ने छापेमारी कर टांडा में 112 पेटी शराब बरामद की थी। स्पेशल ब्रांच ने टांडा के शराब के ठेकेदार द्वारा एक किराए पर लिए मकान में से 112 पेटी शराब बरामद की थी। जानकारी अनुसार ठेकेदार अजीत पाल ¨सह, ठेकेदार जसवीर ¨सह, ठेकेदार रंजीत ¨सह द्वारा पिछले कुछ दिनों से सरपंच व पंच के चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों को शराब सप्लाई की जा रही थी। पुलिस ने तीनों ठेकेदारों के खिलाफ मामला दर्ज कर किया था और पकड़ी गई शराब का कोई परमिट भी नहीं था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!