फोटो नंबर-61 से 69

जागरण संवाददाता, होशियारपुर : केंद्र में भाजपा की मोदी के नेतृत्व में दूसरी बार सरकार बनने के बाद पास होने वाले पहले बजट से लोगों को खासी उम्मीदे हैं। खासतौर पर महिलाओं को भी इस बजट का बेसबरी इंतजार है, क्योंकि सरकार के बजट से ही महिलाओं की रसोई का बजट प्रभावित होगा। महिलाओं को बजट से उम्मीदें हैं ताकि उन्हें भी रसोई के बजट में कुछ राहत मिल सके। महिलाओं की बजट से क्या उम्मीद है उनकी सरकार से क्या उपेक्षाएं हैं। हरेक की अपनी अपनी राए है और महिलाओं की राए व सुझाव के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए दैनिक जागरण टीम ने शहर की कुछ महिलाओं से बातचीत की जो इस प्रकार है। फोटो नंबर-61

रसोई गैस के दामों में हो कमी : सविता

सविता ने बताया कि एलपीजी आज के युग में रसोई का आधार है, और आए दिन गैस के दामों ने आने वाले उछाल से रसोई का बजट हिल जाता है। सरकार को ऐसी पॉलिसी तैयार करनी चाहिए जिससे गैस का रेट स्थिर रहे ताकि लोगों को परेशानी न हो। फोटो नंबर-62

खाद्य पदार्थों के रेटों में हो पारदर्शिता : रश्मि

रश्मि का कहना है कि खाद्य पदार्थों में अन्य वस्तुओं के रेटों की तरह पारदर्शिता होना चाहिए ताकि पता चल सके की रेट क्यों बढ़ रहे हैं क्योंकि दुकानदार कई बार मौसम का बहाना लगाकर ही आपसी सांठ गांठ से मोटा मुनाफा कमा जाते हैं। कुछ ऐसा सिस्टम बनाया जाना चाहिए ताकि सरकार का सीधा संपर्क हरेक लोकर मार्केट से हो। फोटो नंबर-63

सब्जियों के दामों पर हो पैनी नजर : गीतिका

गीतिका ने कहा कि जैसे ही मौसम में तबदीली होती है तो सब्जी विक्रेता अपनी दाओ लगाते हैं और कोड़ियों के दामों में बिकने वाली सब्जियां के दामों में रातो रात उछाल ला देते हैं। जिससे सीधा फर्क घरों के बजट पर पड़ता है। फोटो नंबर-64

महिलाओं के लिए तैयार हो अलग से पॉलिसी : मोनिका

मोनिका ने कहा कि महिलाओं के लिए सरकार अलग से पॉलिसी तैयार करे। चाहे कोई भी क्षेत्र हो महिलाओं को अलग से सुविधा मिलनी चाहिए। ताकि महिलाएं समाज में अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकें। खास तौर पर महिलाओं की सुरक्षा की तरफ अधिक ध्यान देने की जरुरत है। फोटो नंबर-65

बेसहार महिलाओं की तरफ ध्यान दे सरकार : अमिता रानी

अमिता ने बताया कि बेसहारा महिलाओं के लिए विशेष पॉलिसी तैयार होनी चाहिए, ताकि उन्हें राहत मिल सके। खास तौर पर बेसहारा विधवा महिलाएं जिन पर परिवार की जिम्मेदारी होती है उन्हें सरकारी नौकरी का प्रावधान होना चाहिए ताकि वह अपने परिवार का निर्वाह ठीक ढंग से कर सकें। फोटो नंबर-66

कंट्रोल रेटों पर मिले जरुरी घरेलू सामान : अरुणा कुमारी

अरुणा कुमारी ने बताया कि हर साल लाखों क्विटल खाद्य सामग्री बर्बाद हो जाती है। सरकार को चाहिए कि जरुरी घरेलू सामान हरेक को कंट्रोल रेटों पर मिलना चाहिए ताकि आम जन को राहत मिल सके। खास तौर पर घी, चावल चीनी, दालें इनके रेट कंट्रोल होने चाहिए। फोटो नंबर-67

मंहगाई पर हो कंट्रोल : सीमा रानी

सीमा रानी ने कहा कि सरकार को महंगाई पर कंट्रोल करना चाहिए ताकि लोगों का जीवन आराम से कट सके। हालात यह हैं कि आए दिन महंगाई लगातार बढ़ रही है और कोई सरकार इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रही। फोटो नंबर-68

बच्चों की शिक्षा पर दे सरकार ध्यान : रीना कुमारी

रीना कुमारी ने कहा कि बच्चों की शिक्षा की तरफ सरकार को खास ध्यान देना चाहिए, ताकि एक साधारण फैमिला का बच्चा उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके। बच्चियों की शिक्षा के लिए विशेष पॉलिसी तैयार करनी चाहिए। फोटो नंबर-69

इंसाफ के लिए न भटकना पड़े : मनप्रीत कौर

मनप्रीत कौर का कहना है कि सरकार को उन महिलाओं के लिए विशेष पॉलिसी बनानी चाहिए, जो महिलाएं कई सालों से अपने साथ हुए जुल्म के खिलाफ इंसाफ के लिए दर दर की ठोकरें खा रही हैं। ऐसी महिलाओं के लिए विशेष बजट होना चाहिए जो केवल इनको न्याय दिलाने के लिए खर्च हो।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!