नमस्कार। कुदरती संसाधनों का संयम से प्रयोग करें। हमारी आने वाली पीढि़यों का भविष्य आज की जीवनशैली पर निर्भर करेगा। जीवन शैली को हम जितना सरल बनाएंगे, उतना ही सुखी जीवन जी पाएंगे।

-प्रितपाल ¨सह सोहल

एमडी, सोहल कार्बन फैक्ट्री होशियारपुर।

Posted By: Jagran