संवाद सहयोगी, होशियारपुर : ऊना रोड स्थित सीमा सुरक्षा बल के सहायक प्रशिक्षण केंद्र खड़कां में राजस्थान पुलिस विभाग के 340 पुरुषों ने 36 सप्ताह का कठिन प्रशिक्षण हासिल किया। रविवार को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान पुलिस के आइपीएस एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस के नरसिम्हा राव मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे। जवानों ने मुख्यअतिथि के सम्मान में मार्च पास्ट किया गया। उनको परेड की सलामी भी दी। इस प्रशिक्षण में जवानों को पुलिस नियम, मनोविज्ञान, भारतीय संविधान, मानवधिकारों, आपातकाल में कार्य के तौर तरीके, शस्त्र संचालन, युद्ध कौशल, ड्रिल, प्राकृतिक आपदा आदि का विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। इसके बाद सभी प्रशिक्षण हासिल करने वाले प्रशिक्षुओं को ईमानदारी और निष्ठा से देश की सेवा करने की शपथ भी दिलाई गई। मुख्य अतिथि नरसिम्हा राव ने अपने संबोधन में सीमा सुरक्षा बल खड़कां कैंप से प्रशिक्षण हासिल करने वाले युवाओं को बधाई दी। ईमानदारी से अपना काम करना ही सबसे बड़ी देश की सेवा है। हम यही चाहते हैं कि आप लोग देश और देश के मान सम्मान के लिए काम करें। जिससे हम सबका और संबंधित विभाग का गर्व से सर ऊंचा हो सके। कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि के नरसिम्हा राव ने सभी प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले जवानों को मेडल देकर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर सीमा सुरक्षा बल के कमांडर एसएस मंड, इंस्पेक्टर जनरल संजीव भनोट विशेष तौर पर पहुंचे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!