संवाद सहयोगी, हरियाना : धन बाबा पृथ्वी जी की पावन स्मृति में विशाल भंडारा और संत सम्मेलन संत बाबा चरण सिंह जी भीखोवाल वालों की याद में करवाया गया। संत बाबा चरण सिंह जी का जन्म 1922 को नंद सिंह के घर माता प्रभ कौर की कोख से हुआ। उनका विवाह बस्सी बाजीद कि विमला देवी से हुआ। जिनसे तीन पुत्र स्वर्गीय सुरजीत सिंह, स्वर्गीय गुरमेल सिंह और संतोख सिंह पुत्री सतनाम कोर पैदा हुए। 1952 से बाबा जी ने बाबा भरथरी जी के पावन स्थान की सेवा का संकल्प लिया।

बाद में बाबा जी ने गुरुद्वारा दुख निवारण श्री गुरु नानकसर और बाबा भरथरी जी के पावन स्थान का निर्माण करवाया। बाबा जी ने 61 वर्षो तक संगतों के सेवा सिमरन से जोड़े रखा। अब उनके पुत्र भाई संतोख सिंह, पोत्र भाई हरपाल सिंह और भाई अवतार सिंह कर रहे हैं। गुरुद्वारा दुख निवारण श्री गुरु नानक चरणसर भीखोवाल में बाबा भरथरी जी की याद में विशाल भंडारा और संत सम्मेलन करवाया। संत सम्मेलन में महापुरुष कीर्तनी जत्थे कीर्तन कर संगत को गुरु घर से जोड़ा।

Edited By: Jagran