संवाद सूत्र, काहनूवान : पंजाब में पिछले 10 सालों के दौरान अकाली भाजपा गठबंधन ने पंजाब में रिकार्ड तोड़ विकास करवाने के दावे किए व पंजाबियों से विकास के नाम पर वोटें भी मांगी। लेकिन जमीनी स्तर पर यह विकास लोगों को रास नहीं आया। जिसकी मिसाल ब्लाक काहनूवान के गांव सैदोवाल खुर्द लड़कियों के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बरसात के पानी के कारण छप्पड़ जैसी स्थिति बनने से मिलती है।

स्कूल की सारी इमारत में पानी भरा हुआ है। स्कूल के साथ लगती ऊंची सड़क के कारण स्कूल के पानी की निकासी किसी और नहीं हो रही। इसके अलावा साथ लगते गांव गुन्नोपुर का पानी भी स्कूल की ग्राउंड में आ खड़ा हुआ है।

स्कूल में कक्षाओं के विभिन्न कमरों के अलावा लेबोरेटरी, कंप्यूटर लैब व मिड-डे मील की रसोई घर के आसपास पानी खड़ा है। पीने वाले पानी व शौचालय का हिस्सा भी बरसात के पानी में डूबा हुआ है।

स्कूल प्रिंसिपल वीर कुलभूषण ने बताया कि इस समस्या संबंधी शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन को कई बार सूचित किया जा चुका है। पिछले पांच सालों से किसी भी अधिकारी व प्रशासन ने इस समस्या को हल करने का प्रयास नहीं किया।

स्कूल में 200 के करीब विद्यार्थी पढ़ रहे हैं। जिनका भविष्य बरसात के दिनों में सांप या जहरीले कीड़ों के कारण तबाह हो सकता है। स्कूल के प्रिंसिपल व अध्यापक लवदीप ¨सह ने बताया कि स्कूल स्टाफ द्वारा अपने तौर पर डेढ़ लाख के करीब रकम इकट्ठी की गई है। जोकि स्कूल में खड़े होने वाले बरसाती पानी के निकास के लिए खर्च की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!