संवाद सहयोगी, दीनानगर

स्वतंत्र भारत के प्रथम परमवीर चक्र विजेता शहीद कैप्टन गुरबचन सिंह सलारिया की अमिट स्मृति को शाश्वत रखने के लिए विधायक जोगिदर पाल द्वारा यादगारी गेट का नींव पत्थर रखा गया।

शहीद कैप्टन गुरबचन सलारिया की शहादत के कुछ वर्षों के बाद भारतीय सेना द्वारा घरोटा मोड़ पर एक यादगारी गेट का निर्माण करवाया था, जिसकी देखभाल शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद द्वारा की जा रही थी। मगर कुछ वर्ष पूर्व एक दुर्घटना में वह गेट ध्वस्त हो गया था।

शहीद कैप्टन गुरबचन सलारिया के यादगारी गेट को लेकर उनके परिजनों व क्षेत्र के लोगों की यह मांग थी कि अब यह गेट राष्ट्रीय राजमार्ग से उनके गांव जंगल को जाते लिक रोड पर बनाया जाए। इस लिए क्षेत्र के लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए आज इस गेट का नींव पत्थर रखा गया। विधायक जोगिदर पाल ने कहा कि उन्हें इस बात का गर्व है कि जिस विधानसभा क्षेत्र का वह प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, उसने सबसे अधिक शहीद राष्ट्र की बलिवेदी पर कुर्बान किए हैं। आज इनकी याद में इन यादगारी गेटों का निर्माण करवा कर उनके मन को असीम शांति मिल रही है।

परिषद के महासचिव कुंवर रविदर सिंह विक्की ने विधायक जोगिदर पाल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि शहीदों की याद में बनने वाले स्मारक देश की भावी पीढ़ी में राष्ट्र पर मर मिटने का जज्बा पैदा करते हैं। इस मौके पर शहीद के भतीजे सूबेदार कर्ण सिंह, एसडीओ नरेश त्रिपाठी, प्रिसिपल बलबीर सिंह सलारिया, सरपंच रघुबीर सिंह मानी, गुरदीप सिंह नाजोवाल, गुरनाम सिंह बिट्टू, पुरुषोत्तम सैनी, स्वर्ण सिंह, पीए शुभम कुमार साबू, रजिदर भंडारी, सुमन जोशी, बलराम सिंह आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran