संवाद सहयोगी, काहनूवान : गांव धारीवाल भोजा स्थित गुरुद्वारा साहिब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के पावन स्वरूप अग्नि भेंट हो गए। इससे गांव वासियों व इलाके की संगत में भारी रोष पाया जा रहा है। हालांकि बचे हुए तीन स्वरूपों को मर्यादा के अनुसार गुरुद्वारा बुर्ज साहिब धारीवाल में पहुंचाया गया। उधर, थाना सेखवां की पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद अगली कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक वीरवार की शाम को गांव की ही एक महिला सुखचैन सिंह गुरुद्वारा साहिब पहुंची और गुरुद्वारा साहिब के हाल के अंदरुनी हिस्से को देखा तो वहां पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के पावन स्वरूप अग्नि भेंट हो चुके थे। इसके अलावा अन्य निकट पड़ी सामग्री और गुटका साहिब भी अग्नि भेंट हुआ पड़ा था। महिला ने घटना की सूचना गांव के लोगों को दी। इसके बाद जत्थेदार गुरमुख सिंह, सुखदेव सिंह, मास्टर दलविदर सिंह व गांव के लोग गुरुद्वारा साहिब में पहुंचे। इसके बाद गांव के लोगों ने इसकी सूचना शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पदाधिकारियों और थाना सेखवां की पुलिस को दी। इस घटना को गंभीरता से देखते हुए गुरुद्वारा बुर्ज साहिब धारीवाल से मैनेजर संतोख सिंह व हेड ग्रंथी जसविदर सिंह की अध्यक्षता में टीम गुरुद्वारा पहुंची और घटना का जायजा लिया। इस दौरान खुशकिस्मती से बचे हुए तीन स्वरूपों को मर्यादा के अनुसार गुरुद्वारा बुर्ज साहिब धारीवाल में पहुंचाया। इसके अलावा अग्नि भेंट हो चुके स्वरूपों की राख और अन्य जरूरी सामान को भी मर्यादा के अनुसार गुरुद्वारा साहिब से उठा लिया।

थाना प्रभारी किरणदीप सिंह ने कहा कि उनकी टीम द्वारा भी कानूनी व धार्मिक महत्ता को देखते हुए इस मामले की जांच गहनता से की जा रही है। इस मामले संबंधी मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच के बाद ही बनती कार्रवाई की जाएगी। शार्ट सर्किट से आग लगने का अंदेशा

सुखचैन कौर ने बताया कि वे जब गुरुद्वारा साहिब पहुंची तो गुरुद्वारा साहिब के अंदरुनी हालात देखकर बेहद गमगीन हो गई थी। रोजाना ही वे रहिरास साहिब की सेवा निभाती हैं। गुरुद्वारा बुर्ज साहिब के मैनेजर संतोख सिंह ने कहा कि गांव के लोगों के अनुसार और मौके पर हालात के अनुसार यह आग बिजली की शार्ट सर्किट से लगी प्रतीत होती है। इस घटना की गहनता से जांच की जाएगी।

Edited By: Jagran