बाल कृष्ण कालिया, गुरदासपुर

शहर के सेवा केंद्र में कार्य काफी अच्छे से चल रहा है। यहां पेंडेंसी शून्य है। सभी काम समय पर निपटाए जा रहे हैं। यह सब डीसी मोहम्मद इशफाक की सख्ती का असर है। पहले सेवा केंद्र में काम के लिए आने वाले जिले भर के लोगों को अपनी फाइल जमा करवाने के बाद अपने काम को लेकर कई कई दिनों तक इंतजार करना पड़ता था। इसका मुख्य कारण यह था कि जैसे ही लोग फाइल सेवा केंद्र में जमा करवाते थे उसके जमा करवाने के बाद जिस विभाग के लिए फाइल जाती थी वहां से आब्जेक्शन लगाकर फाइल को सेंड बैक मतलब वापस सेवा केंद्र में भेज दिया जाता था। यह पूरा मामला डिप्टी कमिश्नर के ध्यान में आने के बाद उन्होंने तुरंत आदेश देकर सरकारी विभागों को बिना बड़ा कारण फाइल सेवा केंद्र में वापस भेजने पर मना कर दिया है। इसके अतिरिक्त सेवा केंद्र के कर्मचारियों को पूरे दस्तावेज लेकर फाइल जमा करने की बात कही है। अब इस फैसले से सरकारी कार्यालय में पड़ी फाइलें क्लियर हो गई हैं।

अब गुरदासपुर के सेवा केंद्र में कोई भी पेंडिग काम नहीं बचा है। गुरदासपुर के जिला सेवा केंद्र के अधिकारी डीएम आशीष कटोच के मुताबिक प्रदेश भर में उनका जिला गुरदासपुर एक नंबर पर है। यहां कोई काम पेंडिग नहीं है, इसीलिए गुरदासपुर को नंबर एक पर लिया गया है। जानबूझकर लटकाए जाते थे काम

सेवा केंद्र के माध्यम से लोगों के जन्म मृत्यु प्रमाणपत्र, पेंशन, असला लाइसेंस व अन्य कई काम करवाए जाते हैं। इसकी फाइल जब संबंधित विभाग के पास जाती थी तो उस पर कोई न कोई आब्जेक्शन लगाकर उसे वापस भेज दिया जाता था। जब तक व्यक्ति सीधे तौर पर उक्त विभाग के कर्मचारियों को नहीं मिल लेता। इसी वजह से लोगों को कभी सेवा केंद्र तो कभी सरकारी कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे। ऐसा होने से एक तो लोगों का समय बर्बाद होता ही था, उनके काम भी बहुत देरी से हो रहे थे। अब डिप्टी कमिश्नर के डंडे के बाद सरकारी कर्मचारियों ने फाइल सेवा केंद्र को वापस भेजना बंद कर दिया है और लोगों के काम करने शुरू कर दिए हैं। पांच हजार पेंडिग काम क्लीयर

विधानसभा चुनाव के दौरान विभिन्न सरकारी विभागों से संबंधित कामों की फाइल सेवा केंद्र के पास पेंडिग पड़ी हुई थी। सेवा केंद्र के डीएम आशीष कटोच के मुताबिक 5000 से अधिक फाइलें रुकी हुई थीं, जिसे अब क्लियर कर दिया गया है और अब कोई भी पेंडेंसी सेवा केंद्र के पास नहीं है। लोग बोले-सही समय पर हो रहे उनके काम

दैनिक जागरण की ओर से सेवा केंद्र में कुछ लोगों से बातचीत के दौरान काम के लिए आए बलविदर सिंह, महिला सुषमा ने बताया कि सही समय पर फाइल जमा करवाने के बाद उनके काम हो रहे हैं। उधर, सेवा केंद्र के जिला डीएम आशीष कटोच का कहना है कि इस उलझनदार काम को आसान करने का आभार डिप्टी कमिश्नर को ही जाता है।

Edited By: Jagran