जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : नशे में धुत दो सगे भाइयों ने भूत कॉलोनी में स्थित श्मशानघाट के अंदर बने माता वैष्णो देवी के मंदिर की मूर्ति को खंडित कर दिया। इसके बाद ¨हदू संगठनों में भारी रोष पाया जाने लगा। ¨हदू संगठनों का रोष देखते हुए तुरंत मंदिर परिसर के अंदर थाना प्रभारी कुलवंत ¨सह पहुंचे। उन्होंने मौके का जायजा लिया और पंडित के बयानों के आधार पर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।

क्षेत्र के निवासी ओमप्रकाश पुत्र रामलाल ने बताया कि सोमवार की सुबह 6:30 बजे मंदिर परिसर के अंदर माथा टेकने के लिए गया था। जैसे ही मंदिर के अंदर बने वैष्णो देवी के दरबार मंदिर में पहुंचा तो सामने माता की सवारी शेर खंडित हो चुका था। जबकि माता के हाथ में पकड़ी हुई तलवार भी टूटी हुई थी। इसके पश्चात पूछताछ करने के बाद पता चला कि मंदिर परिसर के अंदर रविवार की रात दो युवक आपस में भिड़ (झगड़ा कर) रहे थे। इस वजह से मंदिर के अंदर माता की मूर्ति खंडित हुई। मंदिर की देखभाल करने वाले लाली पुत्र सेवाराम ने बताया कि क्षेत्र के रहने वाले दो सगे भाई साजन और जय आपस में झगड़ा कर रहे थे, जिन्हें छुड़ाने के लिए क्षेत्र का अन्य व्यक्ति भी आया, लेकिन दोनों भाई उस व्यक्ति से ही झगड़ने लगे। इसके पश्चात साजन को मंदिर के अंदर बंद कर दिया गया और उसने गुस्से में आकर मूर्तियों को खंडित कर दी। फिलहाल पुलिस इस मामले को लेकर गहनता से जांच कर रही है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। ¨हदू संगठनों ने दी धरने की चेतावनी

शेरावाली माता की मूर्ति खंडित होने के पश्चात मौके पर पहुंचे शिवसेना समाजवादी के नेता कश्मीर बब्बू चंद्रप्रकाश प्रदीप शर्मा उफऱ् पीची ने बताया कि अगर जल्द से जल्द पुलिस ने आरोपियों को काबू नहीं किया तो जल्द शहर में प्रदर्शन करेंगे। जिसकी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। क्षेत्र में बिकता है नशा चलता है जुआ

क्षेत्र के लोगों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया के क्षेत्र में श्मशान घाट के अंदर युवा नशा और नशेड़ी युवक अक्षर घूमते दिखाई देते हैं । जिसके चलते उक्त व्यक्ति नशे में धुत होकर धार्मिक प्रतिभाओं को नुकसान पहुंचाते हैं। क्षेत्र निवासी पवन कुमार रमेश कुमार बल¨वदर ¨सह आदि लोगों ने बताया कि क्षेत्र में नशे का कारोबार अधिक होने की वजह से ही ऐसी घटनाएं घटित हो रही हैं।

Posted By: Jagran