जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : तीन बहनों के इकलौते भाई की सड़क हादसे में मौत हो गई। मृतक की पहचान बहरामपुर रोड स्थित कृष्णा नगर कैंप निवासी जितेंद्र शर्मा पुत्र बोध राज शर्मा के रूप में हुई।

जितेंद्र को दो महीने पहले ही मोबाइल टावर रिपेयर की नौकरी मिली थी। वह मंगलवार को धारीवाल में एक शिकायत का समाधान करने स्कूटी पर जा रहा था कि हादसे का शिकार हो गया। बताया जा रहा है कि बजरी के कारण स्कूटी स्लिप हो गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हालांकि जितेन्द्र के जीजा ने अंदेशा जताया है कि किसी ने उसकी स्कूटी में पीछे से टक्कर मार दी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दुर्घटना के बाद मौके पर आसपास के लोग युवकों को अस्पताल ले जाने के लिए एकत्रित हुए, लेकिन तब तक युवक मौके पर ही दम तोड़ चुका था। इसके बाद पुलिस चौकी बरियार को सूचित किया गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस ने जितेंद्र शर्मा के जीजा सुनील कुमार के बयानों पर धारा 174 के तहत कार्रवाई करते हुए आगे की जांच शुरू कर दी है। सुनील कुमार का कहना है कि उन्हें संदेह है कि जितेंद्र शर्मा की बाइक को पीछे से किसी ने टक्कर मारी है। सड़क पर बिखरी थी बजरी

प्रत्यक्षदर्शी संजीव कुमार, वरिदर सिह, बलविदर सिह, गुरनाम कुमार आदि लोगों का कहना है कि नेशनल हाईवे पर से रेत और बजरी से भरे ट्रक गुजरते हैं। ऐसे में ओवरलोड बजरी के ट्रक कई बार सड़क पर बजरी बिखेरते हुए चले जाते हैं। ऐसे में अंदेशा है कि जितेन्द्र की स्कूटी बजरी पर फिसल गई। उनका कहना है कि जिला प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही के चलते ट्रक चालकों जरूरत से अधिक सामान लोड करके ऐसे हादसों को निमंत्रण देते हैं। दूसरी तरफ लोगों का कहना था कि सड़क टूटी होने की वजह से भी ऐसे हादसे हो रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!