जागरण संवाददाता, बटाला : गांव पड्डा में पंचायत चुनाव को लेकर हुए विवाद में शुक्रवार को पूर्व अकाली सरपंच के बेटे की हत्या के मामले में शनिवार को परिजनों व अकाली नेताओं तथा वर्करों ने शहर के गांधी चौक में शव रखकर प्रदर्शन किया। परिजन व अकाली आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने तथा शनिवार दोपहर तक मृतक का पोस्टमार्टम नहीं कराने से गुस्से में थे। डीएसपी प्रहलाद सिह ने धरनाकारियों को इंसाफ दिलाने का भरोसा दिया उसके बाद शव उठाकर धरना खत्म किया गया।

धरने का नेतृत्व यूथ अकाली दल के कोर कमेटी सदस्य सुख¨जदर ¨सह सोनू लंगाह कर रहे थे। शुक्रवार को देर सायं गांव पड्डा में चली गोली से पूर्व सरपंच अजीत ¨सह के बेटे रछपाल ¨सह की मौत हो गई थी। मृतक का शव सिविल अस्पताल बटाला में देर रात पोस्टमार्टम करने के लिए रखवा दिया गया। शनिवार दोपहर तक अस्पताल प्रशासन द्वारा मृतक का पोस्टमार्टम नहीं करने पर परिजन खफा हो गए। पहले पोस्टमार्टम हाउस के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। कोई सुनवाइ नहीं होने पर शव को शिअद के वर्कर व नेता गांधी चौक ले गए तथा रोड जाम कर पंजाब सरकार, सिविल अस्पताल व बटाला पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

यूथ अकाली नेता सुख¨जदर ¨सह उर्फ सोनू लंगाह ने बताया कि पुलिस ने पीड़ित परिवार के साथ सरासर धक्का किया है। आरोपितों के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया है, लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं किया। उल्टा एक आरोपित सुखदेव ¨सह उर्फ सूखा अस्पताल में दाखिल हो गया। आरोप लागते कहा कि पुलिस आरोपितों की मदद कर रही है। मौके पर पहुंचे डीएसपी प्रहलाद सिह ने धरनाकारियों को इंसाफ दिलाने का भरोसा दिया तो तब जाकर धरनाकारियों ने वहां से शव उठाकर अपना धरना समाप्त कर दिया। धरना लगभग आधा घंटा तक चला। चोटें दिखाकर अस्पताल में दाखिल हुआ था एक आरोपित

गौर हो कि मामले में आरोपितों में से एक सुखदेव ¨सह ने साजिश रचकर मामूली चोटें दिखाकर अस्पताल में दाखिल हो गया। इसके बाद आरोपित ने अपने रसूख पर वहां एक प्राइवेट रूम ले लिया। खास बात यह रही कि आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज होने के बावजूद पुलिस ने उसे हथकड़ी नहीं बांधी थी। इससे शिअद कार्यकर्ताओं व पीड़ित परिवार में रोष था। वहीं, कुछ समय बाद सिविल अस्पताल प्रशासन ने सुखदेव ¨सह को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बाद दोपहर सिविल अस्पताल ने तीन डॉक्टरों के नेतृत्व में शव का पोस्टमार्टम करने के लिए एक बोर्ड बनाया। शाम चार बजे पोस्टमार्टम कर शव को वारिस के हवाले कर दिया गया। पांच आरोपित फरार

थाना डेरा पुलिस ने बलकार ¨सह के बयान पर छह के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपितों की पहचान सुखदेव ¨सह, बलराज ¨सह, हरजीत ¨सह, लाली, समजप्रीत ¨सह, जसबीर ¨सह निवासी गांव पड्डा के तौर पर हुई है। फिलहाल सूखा को छोड़कर सभी आरोपित फरार चल रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!