बाल कृष्ण कालिया, डेरा बाबा नानक

श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को लेकर ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक में आठ नवंबर से शुरू होने वाले चार दिवसीय उत्सव समागमों में लगभग 30 हजार संगत रोजना एकत्रित होगी। दूर-दराज के स्थानों से दर्शनों के लिए भी संगत आएगी। संगत के ठहरने के प्रबंध 30 एकड़ जगह में फैली सुविधाओं से लैस टेंट सिटी में किए गए हैं। यहां 3500 संगत के ठहरने के प्रबंध हैं। इस ऐतिहासिक अवसर पर शहर में बनाई गई यह टेंट सिटी संगत के स्वागत के लिए तैयार है। यहां 544 टेंट यूरोपियन स्टाइल, 100 स्विस कोटेज और 20 दरबार स्टाइल की रिहायश है।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने गुरुवार को मुख्य समागम के लिए बनाए गए मुख्य पंडाल के साथ-साथ टेंट सिटी का भी निरीक्षण किया और प्रबंधों पर संतुष्टि जाहिर की। पंडाल में 30 हजार की संख्या में संगत एकत्रित होने की क्षमता है। आठ से 11 नवंबर तक चलने वाले चार दिवसीय डेरा बाबा नानक उत्सव के प्रत्येक दिन इतनी संख्या में संगत के जुड़ने की संभावना है। 4.2 करोड़ रुपये की लागत से बनी टेंट सिटी

टेंट सिटी का प्रोजेक्ट 4.2 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया गया है। इसमें यूरोपियन तरीके की रिहायश भी बनाई गई है। इसमें छह-छह व्यक्ति ठहर सकते हैं। इस तरीके की रिहायश के साथ 140 अलग बाथरूम और 140 वॉशरूम भी बनाए गए हैं, जिससे श्रद्धालुओं की प्राथमिक जरूरतें भी पूरी हो सकें। प्रत्येक स्विस कोटेज में दो व्यक्ति ठहर सकते हैं, जिसके साथ बाथरूम भी अटैच होगा। इसी तरह दरबार टेंट के साथ भी बाथरूम होगा, जहां चार -चार व्यक्ति ठहर सकेंगे। यह रहेगी टेंट में सुविधा

इस टेंट सिटी में कुल 3544 व्यक्ति ठहर सकते हैं। इनमें से 26 यूरोपियन स्टाइल, दस स्विस कोटेज और दो दरबार टेंट सिविल अफसरों और कर्मचारियों के लिए होंगे। यूरोपियन तरीके वाली टेंट सिटी में प्रत्येक के लिए पश्चिमी शौचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है। पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए 56 यूरोपियन स्टाइल टेंट, आठ स्विस कोटेज और दो दरबार टेंट बनाए गए हैं। हरेक यूरोपियन टेंट के लिए 17 शोचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है। श्रद्धालुओं को मिलेगा आरओ युक्त पानी

डीसी विपुल उज्जवल ने बताया कि एक हजार लीटर प्रति घंटे की क्षमता के साथ पानी संशोधन करने वाला एक आरओ और पानी मुहैया करवाने के लिए 18 स्थान निर्धारित किए गए हैं। इससे संगत को साफ पानी मुहैया करवाना यकीनी बनाया जाएगा। इसी तरह बिजली की निर्विघ्न सप्लाई के लिए 125 किलोवॉट के साम‌र्थ्य वाले चार जेनरेटर भी होंगे। दो को होगी ऑनलाइन बुकिग

पाकिस्तान के करतारपुर गुरुद्वारा परिसर में जाने के लिए दो नवंबर को ऑनलाइन बुकिग शुरू की जा रही है। इसमें भारत का कोई भी श्रद्धालु इसके लिए आवेदन कर सकता है। इसके बाद ऑनलाइन सिस्टम में अप्रूवल मिलने के बाद श्रद्धालु को पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा साहिब के दर्शनों के लिए अनुमति मिलेगी। टेंट सिटी में होगी रजिस्ट्रेशन

टेंट सिटी में रजिस्ट्रेशन रूम, जोड़ा घर, गठरी घर, वीआइपी लॉज और फायर स्टेशन समेत अन्य भी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। देश भर से आने वाले श्रद्धालु टेंट सिटी में पहुंच कर कोई भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। इस मौके पर सहकारिता और जेल मंत्री सुखजिदर सिंह रंधावा, तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, लोक निर्माण और शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिगला, विधायक फतेहजंग सिंह बाजवा, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, डीजीपी दिनकर गुप्ता, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव कैप्टन संदीप सिंह संधू, अतिरिक्त मुख्य सचिव सहकारिता कल्पना मित्तल बरूहा, मार्कफेड के एमडी वरुण, मिल्कफेड के एमडी कमलदीप सिंह संघा, शूगरफेड के एमडी पुनीत गोयल, गुरदासपुर के डीसी विपुल उज्जवल, बॉर्डर रेंज के आइजी एसपीएस परमार और बटाला के एसएसपी उपिदर सिंह घुम्मण भी उपस्थित थे।

स्विस कॉटेज टेंट देख सीएम खुश

करतारपुर कॉरिडोर की चल रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए वीरवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह डेरा बाबा नानक पहुंचे। गांव मान में टेंट सिटी में निर्माण किए स्विस कॉटज टेंटों को देखकर सीएम कैप्टन बेहद प्रसन्न हुए। डीसी विपुल उज्जवल ने सीएम को टेंट सिटी के निर्माण संबंधी विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव के मौके पर वीआइपी, सुरक्षा दस्ता व अन्य के लिए 546 टेंट बनाए गए हैं। इसमें 462 एपीपी कैंटर 25 बाई 25, 88 वीआइपी स्विस भारतीय कॉटेज टेंट 25 बाई 45 व 20 दरबारी टेंट बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि वीआइपी टेंट में शोचालय, ड्राइंग रूम, बेडरूम की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा अंडर ग्राउंड पाइपलाइन व पानी पीने का उचित प्रबंध किया गया है। सीएम कैप्टन अमरिदर सिंह ने इसकी खूबसूरती को देखकर प्रशंसा की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!