संवाद सहयोगी, बटाला : आल इंडिया कांग्रेस पार्टी की प्रधान सोनिया गांधी के निर्देशों पर यूथ कांग्रेस के जनरल सचिव जसकरण सिंह काहलों की अगुवाई में किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए शनिवार शाम को कैंडल मार्च निकाला गया। काहलों ने कहा कि पिछले एक साल से किसान दिल्ली के बार्डरों पर बैठे हुए हैं। किसानों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। करीब 700 से अधिक किसान अंदोलन में जान गंवा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने किसानों के साथ बहुत बुरा व्यवहार किया और तंग परेशान किया। किसानों के आंदोलन को खत्म करने के लिए कई तरह के हथकंडे तक अपनाए गए हैं। अब प्रधानमंत्री ने अपनी गलती मानते हुए इन काले कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है। चाहे प्रधानमंत्री ने गलती मान ली है, लेकिन अभी भी हम सभी को सचेत रहने की जरूरत है। इस मौके पर कांग्रेस पार्टी के जिला प्रधान सोशल मीडिया सरवप्रीत सिंह, परमदीप सिंह, बाबा प्रेम सिंह, हरपाल सिंह, बंटी खोसला, मनी, मास्टर भोला आदि वर्कर मौजूद थे।

Edited By: Jagran