विनय कोछड़, बटाला : स्पेशल रिमांड पर आरोपित एजेंट महिला सुरजीत कौर वासी जिला शहीद भगत ¨सह ने 97 लोगों को ठगी का शिकार बनाया है। आरोपित महिला के खिलाफ लगभग 50 लाख रुपये की ठगी मारने के आरोप लगे हैं। लोगों को कनाडा के वर्क परमिट पर विदेश के झूठे सपने दिखाती थी, फिर बाद में उनसे उनकी हैसियत मुताबिक पैसे व पासपार्ट अपने पास रख लेती। संदेह पैदा होने पर आरोपित महिला आफिस बंदकर दूसरे शहर में पलायन कर लेती। इस बात का खुलासा थाना सिविल लाइन के प्रभारी एसएचओ परमजीत ¨सह ने किया। उन्होंने बताया, आरोपित के खिलाफ पहले से ही जिला शहीद भगत ¨सह नगर में 3 केस विभिन्न थानों में धोखाधड़ी के चल रहे हैं और सभी केसों में वह अदालत से पीओ है। बटाला पुलिस ने इसे ठगी के शिकार एक व्यक्ति के बयान पर टोके वाली गली से गिरफ्तार किया। अदालत में पेश करने के बाद पुलिस को 4 दिन का पुलिस रिमांड मिला। ठगी से पीड़ित जिन-जिन लोगों को महिला एजेंट के गिरफ्तार होने का पता चला। वे सभी एसएसपी बटाला उपेंद्रजीत ¨सह घुम्मन से मुलाकात करने पहुंचे। महिला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। अब तक 97 लोगों ने महिला एजेंट के खिलाफ बयान दर्ज करा दिए है। जिला गुरदासपुर के रहने वाले सुख¨वद्र ¨सह, सुखबीर ¨सह, अनमोल दीप ¨सह, जगदीप कौर, सुख¨वद्र ¨सह से साढ़े-साढ़े तीन लाख रुपये की सबसे ज्यादा ठगी मारने का मामला उजागर हुआ है। आरोपित ने इनके पासपोर्ट भी अपने पास रख लिए है, वापस हासिल करने के लिए उन्हें एसएसपी बटाला के दफ्तर के चक्कर काटने पड़ रहे है।

डॉ. की बीवी को भी नहीं बख्शा

मालूम हुआ है कि महिला एजेंट ने शहीद भगत ¨सह नगर के राहों वासी डॉ. दलजीत ¨सह की पत्नी शरणजीत कौर को भी नहीं बख्शा। डॉ. की पत्नी को शातिर महिला ने बातों के जाल में फंसाकर उनसे साढ़े तीन लाख रुपये हड़प लिए। सपने दिखाए कि कनाडा भेजकर उन्हें अच्छी कंपनी में रिपलेसमेंट करवा देगी। महिला का पासपोर्ट एजेंट ने अपने पास रख लिया। अगले दिन पीड़िता एजेंट के ऑफिस गई तो वह बंद था। संपर्क करने पर फोन स्विच आफ आ रहा था। आरोपित के पकड़े जाने पर थाना सिविल लाइन में उसके खिलाफ अपने साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई।

डीएसपी की जांच के बाद दर्ज हुआ मामला

पहले मामला एसएसपी बटाला उपेंद्रजीत ¨सह घुम्मम के पास पहुंचा। मामले की जांच दो डीएसपी को सौंपी गई। डीएसपी हेडक्वार्टर हरिशरण शर्मा, डीएसपी पर¨वद्र कौर के नेतृत्व में बनी जांच टीम ने आरोपित से पूछताछ की। पूछताछ में उसने 97 लोगों के साथ ठगी करने के नाम कबूले, जिसके बाद पुलिस द्वारा विभिन्न टीमों का गठन किया। ठगी से पीड़ित लोगों के साथ संपर्क किया, जिन्होंने थाने आकर महिला के खिलाफ बयान दर्ज कराए। उसके बाद आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया।

ठगी की साजिश कुछ ऐसे

महिला के अधिकतर ठगी के शिकार गांव के भोले भाले लोग होते थे। उन्हें विदेश में वेल सेटलड के सपने दिखाकर अपनी बातों के जाल में फंसा लेती थी। उसके बाद उनसे पैसे व पासपोर्ट अपने पास रख लेती। ज्यादा लोगों से पैसे इकट्ठे करने के बाद वहां से अपना आफिस बंद कर देती और दूसरे शहर में पलायन कर लेती। इसी तरह महिला ने शहीद भगत ¨सह नगर, होशियारपुर, रोपड़, मानसा, बरनाला, संगरुर, ब¨ठडा, फिरोजपुर के क्षेत्रों में जितने गांवों में रहने वाले लोग थे, उन्हें ठगी का शिकार बनाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!